सोनभद्र

Sonbhadra Update News : मंत्री के इलाके में अधिकारी बेपरवाह, सड़क हादसे में दो महिलाओं की मौत, खराब सड़क बनी वजह

घनश्याम पांडेय/विनीत शर्मा (संवाददाता)

■ दुर्घटना के बाद के बाद आवागमन रहा बाधित

■ भाजपा नेताओं ने भी माना, मंत्री का आदेश नहीं मानते अधिकारी

■ बड़ा सवाल, खुद की सरकार में बीजेपी नेताओं को क्यों पड़ रहा गिड़गिड़ाना

■ आखिर कब होगी मनबढ़ अधिकारियों पर कार्यवाही

चोपन (सोनभद्र) । सड़क निर्माण कम्पनी पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों की उदासीनता के चलते अधूरे सड़क का खामियाजा लोगों को अपनी जान गवां कर चुकानी पड़ रही है। रविवार को चोपन थाना क्षेत्र के सिंदूरिया गांव के पास एक हाइवा ने बाइक में सीधी टक्कर मार दी । जिससे बाइक पर सवार दो महिलाओं की घटना स्थल पर मौत हो गयी जबकि बाइक सवार युवक व तीन महीने की दुधमुंही बच्ची घायल हो गयी । उधर घटना की सूचना मिलते ही मौके पर भारी भीड़ जमा हो गई और रास्ता जाम कर दिया । जाम व हादसे की खबर मिलते ही मौके पर पुलिस भी पहुंच गई ।

प्राप्त जानकारी के मुताबिक लल्लू पुत्र रामचंद्र निवासी पनौरा थाना पन्नूगंज अपनी भाभी के मायने देवखर थाना जुगैल गया था । रविवार की दोपहर बाद वह अपनी भाभी राजमती पत्नी नरेश उम्र लगभग 30 वर्ष व एक नाम पता अज्ञात रिस्ते में बुआ तथा तीन महीने की दुधमुंही बच्ची को लेकर अपने घर पनौरा जा रहा था । जैसे ही वह सिंदुरिया गांव से आगे बढ़ा तो चोपन से सिंदूरिया की तरफ जा रही हाइवा ट्रक ने सामने से जोरदार टक्कर मार दिया । टक्कर इतनी जोरदार थी कि बाइक सवार दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई जबकि बाइक चला रहा युवक व तीन महीने की बच्ची घायल हो गए । घटना के बाद हड़कम्प मच गया और मौके पर लोगों की भीड़ जमा हो गई । वहीं मौके पर पहुंचे जुगैल जिला पंचायत सदस्य प्रतिनिधि संजीव तिवारी व मंडल अध्यक्ष सुनील सिंह ने दुर्घटना पर गहरा आक्रोश व्यक्त किया । नेता द्वय का आरोप था कि लंबे समय से सड़क निर्माण कार्य चल रहा है जो कि आजतक पूरा नहीं किया गया जिसके चलते आये दिन दुर्घटना हो रही है । उधर मौके पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक विश्वनाथ प्रताप सिंह ने लोगों को समझा बुझाकर शांत कराते हुए दोनों शवों को कब्जे में लेकर अग्रीम कार्यवाही में जुट गए । जबकि दोनों घायलों को चोपन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज जारी था ।

साल भर से बन रहा सीसी रोड

गौरतलब है कि चोपन भरहरी मार्ग पर चोपन वैरियर से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के आगे तक लगभग आठ सौ मीटर का सीसीरोड का निर्माण किया जा रहा है जो कि एक वर्ष होने को जा रहा है किंतु अभी तक पूर्ण नहीं हो पाया है जिसके चलते आये दिन दुर्घटनाये हो रही है। बावजूद इसके जिम्मेदार मौन धारण किए हुए हैं जिसके चलते बेसमय लोग काल के गाल में समा जा रहे हैं । लोगों का कहना है कि आज जो दुर्घटना हुई है यदि सड़क बन गया होता तो किसी का परिवार नहीं उजड़ता ।

मंत्री के आदेश को भी नहीं मानते अधिकारी

जिस सिंदूरिया गांव में हादसे में दो महिलाओं को अपनी जान गंवानी पड़ी वह इलाका योगी सरकार में मंत्री संजीव गोंड़ का है । भाजपा नेता खुद मान रहे हैं कि मंत्री संजीव गोंड़ के आदेश के बाद भी सड़क निर्माण में तेजी नहीं आयी बल्कि पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारी और भी ज्यादा लापरवाह नजर आने लगे । ऐसे में सवाल यह है कि जहां एक तरफ सरकार विकास को लेकर तमाम बड़े बड़े दावे करती है वहीं सरकार के मंत्री की ही बात उनके अधिकारी नहीं मान रहे हैं । यह तो आने वाले समय में पता चल सकेगा कि मंत्री जी का जबाब क्या आता है ।

ये भी पढ़ें – Sonbhadra News : STF और रॉबर्ट्सगंज पुलिस की संयुक्त कार्यवाही में तीन अंतरप्रांतीय तस्कर गिरफ्तार, 2.91 कुंटल गाँजा बरामद

सीएम का दौरा है प्रस्तावित

चोपन थाना क्षेत्र में रविवार की घटना ने न सिर्फ दो महिलाओं की जिंदगी छीन ली बल्कि कई परिवार को बिखेर कर रख दिया । ओबरा विधानसभा का यह इलाका मंत्री संजीव गोंड़ का है और इसी महीने सीएम योगी का दौरा ओबरा में प्रस्तावित है, ऐसे में पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को खुद लग कर सीसी रोड को पूरा करा देना चाहिए लेकिन अधिकारियों की मनमानी का नतीजा आज दो लोगों को अपनी जान गंवा कर चुकानी पड़ी ।

हर महीने होती है जिले से लेकर लखनऊ तक समीक्षा

बड़ा सवाल यह है कि हर महीने जिले से लेकर लखनऊ तक सड़कों को लेकर समीक्षा की जाती है लेकिन सवाल तो यह उठता है कि यदि हर सड़क की समीक्षा की जाती है तो सिंदूरिया में निर्माणाधीन सीसी रोड साल भर से अधूरा क्यों है ।

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

You cannot copy content of this page