शाहजहाँपुर

पुलिस ने छात्रा की हत्या का किया खुलासा

राहुल शुक्ला ब्यूरो

◆ पिता ही निकला अपनी पुत्री का कातिल, अभियुक्त गिरफ्तार, आलाकत्ल ईंट बरामद

सिंधौली-शाहजहांपुर। बीती 24 तारीख़ युवती कु0 अर्चना पुत्री सुखलाल नि0 शिवनगर थाना सिंधौली शाहजहाँपुर का शव ग्राम दिउरिया कल्याणपुर के पानी के तालाब से बरामद किया गया था । इस सम्बन्ध मे थाना सिंधौली पर युवती के पिता सुखलाल की तहरीर के आधार पर मु0अ0स0 047/2023 धारा 302 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया था । जिसकी विवेचना कोतवाली प्रभारी निरीक्षक द्वारा की जा रही है ।

एस आनन्द, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शाहजहाँपुर द्वारा तत्काल घटनास्थल का निरीक्षण किया गया तथा संजीव कुमार वाजपेयी, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं श्री पंकज पंत क्षेत्राधिकारी पुवायां के निर्देशन मे पुलिस टीम गठित कर हत्या का अनावरण कर अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु कडे निर्देश दिये गये । पुलिस अधीक्षक शाहजहाँपुर द्वारा स्वंय पर्यवेक्षण किया जा रहा था ।

इसी क्रम मे गहनता से विवेचना व प्रकाश मे आये तथ्यों व तकनीकी साक्ष्यों के आधार पर थाना सिंधौली पुलिस टीम द्वारा आज दिनाँक 28.01.2023 को प्रातः 09.35 बजे मृतका के पिता/वादी मुकदमा सुखलाल पुत्र नन्हू निवासी शिवनगर थाना सिंधौली जनपद शाहजहांपुर को गिरफ्तार किया गया है तथा उसकी निशानदेही पर घर के पास से हत्या मे प्रयुक्त ईंटा की बरामदगी की गयी । इस सम्बन्ध मे थाना सिंधौली पर वैधानिक कार्यवाही कर अभियुक्त को मा0 न्यायालय के समक्ष पेश किया जायेगा।

पुलिस को अभियुक्त से पूछताछ करने पर अभियुक्त ने बताया कि उसकी पुत्री अर्चना का अवनीश उर्फ मटरू से प्रेम प्रसंग था तथा दि0 10.01.23 को मटरू के साथ गन्ने के खेत मे देखा तो उसे पकडकर ले आया था । दिनाक 21.01.2023 को जब मेरी पत्नी और दोनो बहुऐं बाहर गयी हुयी थीं घर पर सिर्फ मैं और मेरी बेटी थी तब मैंने अर्चना को काफी समझाने का प्रयास किया परन्तु वह नही मानी और मुझसे लडने लगी । इसलिये मैने अपने घर परिवार की इज्जत बचाने के लिये पास मे पडा ईटा उठाकर अर्चना के सिर पर मार दिया । मेरी लडकी अर्चना वही गिर गयी और मुझे लगा वह मर गयी । मैने रात होने का इन्तजार किया और करीब 11.00 बजे रात मे जब पूरा गांव सो गया तब उसका हाथ पैर उसके दुपट्टे से बाँधा उसका बस्ता कापी किताब और अर्चना की लाश को एक चादर मे बाँधा और अर्चना को उसकी ही साईकिल के पीछे कैरियर पर बाँधकर रखा और अकेले जाकर दिऊरिया कल्यानपुर के तालाब मे अपनी लडकी अर्चना की लाश ,कपडे, स्कूल बैंग और साईकिल सहित डाल दिया और वापस आ गया ।

उसने यह अपने मन मे पहले ही तय कर लिया था कि अगर अर्चना ने मेरी बात नही मानी तो मै उसकी हत्या कर दूंगा इसी कारण मैने उसे घऱ से निकलने नही दिया उसका फोन बन्द करके फेंक दिया था तथा दिनांक 15.01.2023 को चौकी कोरोकुईयाँ और थाना सिंधौली पर जाकर अपनी लडकी अर्चना की गुमशुदगी के बारे मे बताया था जब उन्होने प्रार्थना पत्र लिखाकर लाने को कहा तो मै बिना प्रार्थना पत्र दिये वापस घर आ गया था । यह मैने इसलिये किया कि अगर अर्चना की हत्या हुयी और मैने उसे छिपाया और बाद मे उसकी लाश मिलेगी तो पुलिस हमसे सवाल जवाब करेगी इसलिये मैने उसके गायब होने की मौखिक सूचना उसके जिन्दा रहते ही दे दी थी । अर्चना को मारने के बाद तालाब मे उसकी लाश, साईकिल और सामान इतना अन्दर डाला था कि कोई भी चीज बाहर दिखाई न दे लेकिन पता नही कैसे 24.01.2023 को साईकिल दिखने लगी उसके बाद अर्चना की लाश और सारी चींजे बाहर निकाली गई।

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

You cannot copy content of this page