सोनभद्र

एडीजी, डीआईजी व एसपी ने नक्सल प्रभावित गांव बसूहारी मे जनचौपाल लगाकर जाना हकीकत

कोन। स्थानीय थाना क्षेत्र के अति दुरुह नक्सल प्रभावित पोखरिया चौकी क्षेत्र के बसूहारी मे 26 जनवरी को सांय एडीजी राम कुमार ,डीआईजी, व पुलिस अधिक्षक सोनभद्र यशवीर सिंह के साथ भारी संख्या मे पुलिस अधिकारियों ने अति पिछड़ा तरिया क्षेत्र मे पहुंच कर ग्रामीणों से समस्याओं का जायदा लेते हुये बसूहारी गांव मे जनचौपाल लगाकर मूलभूत समस्याओं से अवगत होते हुये कहा कि पहले कि अपेक्षा ग्रामीणों मे काभी जागरूकता आयी है निरन्तर विकास हो रहा है अब लोगों मे कोई भय का माहौल नहीं है ,इस क्षेत्र मे मोबाइल टावर व स्वास्थ्य सुविधा की समस्या है जिसके लिए शासन को अवगत कराकर हल किया जायेगा। इसके बाद देर सांय चांचीकला मे सोननदी पर नवनिर्मित पुल से होते हुये चांचीकला पहुंचे। गांव में अधिकारियों की आने कि खबर मिलते ही ग्राम प्रधान नकतवार / प्रधान संगठन के जिलाध्यक्ष लक्ष्मी कुमार जायसवाल, सुशील चतुर्वेदी, प्रदीप जायसवाल, रंगीलाल ने एडीजी को स्मृति चिन्ह भेट करते हुये क्षेत्र की समस्याओं से अवगत कराते हुये मोबाइल नेटवर्क तत्काल लगवाने का मांग किया कहा कि क्षेत्र का निरन्तर विकास हो रहा है परंतु आज के मोबाइल क्रांति युग मे भी नेटवर्क नहीं होने से काफी परेशानियों का सामना करना पड रहा है।अति दुरुह व पिछड़ा गांव के दौरा के बाद एडीजी रामकुमार ने बताया कि ग्रामीणों से मिलकर समस्या का जायजा लिया गया है जिसमें खासतौर से आज भी जागरूकता के अभाव मे ओझाई झाडफूंक के अंधविश्वास मे ग्रामीण जनता फसे है जिसका हमसब मिलकर जागरूकता लाकर अंधविश्वास को समाप्त कराने का प्रयास कर रहे है,अब किसी प्रकार की नक्सल गतिविधिया नहीं है ना ही ग्रामीणों मे भय है स्वास्थ्य सुविधा व नेटवर्किंग कि समस्या है जिसे भी शासन द्वारा दुर कराया जायेगा, एडीजी समेत सभी पुलिस अधिकारियों ने चांचीकला चौकी मे रात्रि विश्राम किये व शुक्रवार को सुबह जिला मुख्यालय के लिए प्रस्थान किये।इस प्रकार से अति पिछड़ा गांव मे पुलिस के आलाधिकारी के ठहराव से ग्रामीणों मे विस्वास जगा है। रात्रि विश्राम करने वालों मे एडीजी राम कुमार, डीआईजी ,पुलिस अधीक्षक सोनभद्र यशवीर सिंह, क्षेत्राधिकारी ओबरा शंकर प्रसाद समेत तमाम अधिकारी साथ रहे।

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

You cannot copy content of this page