[metaslider id="38094"]
सोनभद्र

स्वास्थ्य और पोषण की समस्याओं को लेकर हुई जन सुनवाई

[metaslider id="38102"]

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । विकास समिति द्वारा चाइल्ड राइट्स एंड यू के सहयोग से जनपद के विकास खंड राबर्ट्सगंज, नगवां एवं घोरावल के समुदाय एवं बाल अधिकार के समस्यायों के संदर्भ में जन सुनवाई का आयोजन राबर्ट्सगंज ब्लॉक सभागार में आयोजित किया।

इस दौरान परियोजना के समन्वयक नागेश्वर सिंह ने कहा कि इस आदिवासी बाहुल्य गावों में टीकाकरण, स्वास्थ्य जांच, कोलेस्ट्रम फीडिंग एवं कुपोषण को लेकर तमाम अंधविश्वास मौजूद है तो वहीं न्यू नेटल डेथ की संख्या भी अधिक है इसको लेकर संस्था गांव में जागरूक कार्यक्रम के साथ स्वास्थ्य और पोषण की योजनाओं से लाभार्थियों को जोड़ने एवं काउंसलिंग का कार्य कर रही है। वर्तमान समय में विद्यमान स्वास्थ्य की चुनौतियों के बारे में कहा की बहुआर में नया पीएचसी भवन बनने के बाद भी आज तक संचालित नही हो पाया है साथ ही सिलहटा, चूआ टोला, अमौली, लउवा नंदना विरचुवा और पोखरौध जैसे गांव में आशा ही नहीं है जिससे प्राथमिक स्वास्थ्य की सेवाएँ एवं संस्थागत प्रसव भी बाधित हो रहा है।

कार्यक्रम के दौरान नगवाँ विकास खण्ड क्षेत्र और राबर्ट्सगंज विकास खंड क्षेत्र के सात गावों में एंबुलेंस न पहुंचने की समस्या भी ग्रामीणों ने रखी। वहीं लौवा गांव के अमरजीत ने कहा की लोवा, नंदना और पोखरौध में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की नियुक्ति नहीं है वहीं गडौरा, दमही, महुअरिया, जुडौली, बल्होर व भूईरान गांव में आंगनबाड़ी कार्यकर्तियों का अभाव है इसलिए पोषाहार का वितरण भी कभी कभी होता है। ग्रामीणों ने बताया कि जहाँ शिवपुर ,मऊ कला और विरनचूवा में आंगनवाड़ी भवन भी खराब स्थिति में है, वहीं अमौली में भवन न होने की शिकायत भी उपस्थित लोगों ने किया।

कार्यक्रम में उपस्थित एसीएमओ डॉ0 आर0जी0 यादव ने सभी की समस्याओं को सुना तथा जननी सुरक्षा एवं मातृ वंदना योजना के लाभार्थियों के समस्याओं के निस्तारण कराने एनआरसी में बेड बढ़ाए जाने पर भी जानकारी दिया तथा सभी मांगपत्र में दी गई समस्याओं के निस्तारण का आश्वासन दिया।

बाल विकास पुष्टाहार सेवा से उपस्थित सीडीपीओ सूचित कुमार सिंह ने उपस्थित लोगों की समस्याओं को सुना आंगनवाड़ी केंद्रों में सुधार, वजन मशीन की उपलब्धता सुनिश्चित कराने, पोषाहार वितरण की समस्याओं को संज्ञान में लेते हुए आवश्यक कार्यवाही करने तथा जिला कार्यक्रम अधिकारी से समस्या निस्तारण कराने हेतु शीघ्र पहल करने का आश्वासन दिया। उन्होंने बताया कि शासना देश जारी होते ही आंगनबाड़ी नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू होगी और इन पिछड़े गावों को वरीयता दिया जायेगा।

कार्यक्रम में सीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष अखिल नारायण पाण्डेय, सदस्य अमरेश चंद्र पाठक, अमित चंदेल, उमेश पाठक, धनंजय, रामलखन, साधना सिंह सहित तमाम लोग उपस्थित रहे।

संस्था के सचिव राजेश चौबे ने उपस्थित समस्त अधिकारियों एवं जन समुदाय का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए बच्चों की समस्याओं चुनौतियों के निस्तारण की मांग के संबंध में अधिकारियों को मांग पत्र भी दिया।

[metaslider id="38110"]

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button