[metaslider id="38094"]
सोनभद्र

आकांक्षी जनपद से स्थानांतरण की मांग को लेकर शिक्षकों ने निकाला कैंडल मार्च

[metaslider id="38102"]

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आकांक्षी जनपदों से परिषदीय शिक्षकों के अंतर्जनपदीय तबादला नीति बहाल करने को लेकर आज उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ के बैनर तले जिलाध्यक्ष संतोष कुमारी के नेतृत्व में शिक्षकों ने रॉबर्ट्सगंज स्थित चाचा नेहरू पार्क से बढ़ौली चौक तक कैंडल मार्च निकाला।

इस दौरान जिलाध्यक्ष संतोष कुमारी ने कहा कि “प्रदेश सरकार द्वारा उ0प्र0 के विभिन्न जनपदों में परिषदीय शिक्षकों/शिक्षिकाओं के अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण विगत वर्ष में किये गये है परन्तु 8 आकांक्षी जनपदों (बलरामपुर, बहराइच, श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, चित्रकूट, सोनभद्र, फतेहपुर और चंदौली) के परिषदीय शिक्षकों/शिक्षिकाओं का अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण के लाभ से वंचित रखा गया है। अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरित न हो पाने के कारण शिक्षक अपने परिवारिक एवं सामाजिक दायित्वों का भी निर्वाह नहीं कर पा रहें है, जिसके कारण शिक्षकों में काफी रोष व्याप्त है। प्रदेश सरकार द्वारा 68500 एवं 69500 शिक्षकों की भर्ती किये जाने से 8 आकांक्षी जनपदों में शिक्षकों की कमी को पूरा किया जा चुका है। किंतु पूर्व में किये गये बेसिक शिक्षकों के अर्न्तजनपदीय स्थानान्तरण में सरकार द्वारा 54120 शिक्षकों के अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण के निर्देश दिये गये थे जिसमें से लगभग 27000 शिक्षकों के अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण किये गये किन्तु आकांक्षी जनपदों में कार्यरत शिक्षकों/शिक्षिकाओं को प्रक्रिया से वंचित रखा गया है। आकांक्षी जनपदों में कार्यरत शिक्षक/शिक्षिकाओं विगत कई वर्षों से अपने परिवारिक/सामाजिक दायित्वों से 500-800 किमी दूर इन आकांक्षी जनपदों में सैकड़ों शिक्षक/शिक्षिकाएँ पूर्ण मनोयोग से अपनी सेवायें देर रहे है। इसलिए प्राथमिक शिक्षक संघ 54120 के अवशेष रिक्त पदों में से आकांक्षी जनपदों में कार्यरत शिक्षक/शिक्षिकाओं के अन्तर्जनपदीय स्थानान्तरण करने की मांग करता है।”

इस दौरान भारी संख्या में शिक्षकगण मौजूद रहे।

[metaslider id="38110"]

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button