सोनभद्र

Sonbhadra News : डेंगू से निपटने को स्वास्थ्य विभाग में शुरू की तैयारी

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

मो0नं0 – 7007444590

सोनभद्र । गर्मियों की शुरुआत में घर के आसपास मच्छरों की संख्या बढ़ने लगती है। यह कई बीमारियों का कारक बनता है। मानसून आते ही डेंगू के मच्छर पनपने लगते हैं। इस बार डेंगू से निपटने को लेकर स्वास्थ्य विभाग पहले ही अलर्ट है। इसके लिए मुख्य चिकित्साधिकारी ने मेडिकल कालेज से सम्बद्ध जिला अस्पताल और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर मच्छरदानी युक्त बेड आरक्षित किए जाने के लिए निर्देशित किया हैं साथ ही साथ जनपदवासियों से साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखने की अपील भी की है। इसी क्रम में आज राष्ट्रीय डेंगू दिवस के अवसर पर मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय स्थित सभागार में एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान मुख्य अतिथि मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 अश्वनी कुमार ने डेंगू के लक्षण और बचाव के बारे में जानकारी दी साथ ही डेंगू से रोकथाम के संबंध में शपथ भी दिलवाई।

सीएमओ डॉ0 अश्वनी कुमार ने बताया कि “हर साल 16 मई को राष्ट्रीय डेंगू दिवस मनाया जाता है। हर साल की एक खास थीम होती है। इस वर्ष राष्ट्रीय डेंगू दिवस 2024 की थीम डेंगू का नियंत्रण सामूहिक जिम्मेदारी है…, रखा गया है। सीएमओ ने बताया कि गर्मी बढ़ने के साथ ही मच्छरों का प्रकोप बढ़ने लगता है। लार्वा भी पनपने लगता है, जो आने वाले दिनों में खतरा बन सकता है। इससे निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी को लेकर अन्य विभागों से आपसी तालमेल शुरू कर दिया है। उन्होंने सरकारी एवं निजी चिकित्सालयों को निर्देशित करते हुए कहा कि डेंगू के लिये बेड एवं वार्ड आरक्षित कर लिये जाये। डेंगू धनात्मक रोगी का सैम्पल जिला चिकित्सालय लोढ़ी स्थित एसएसएचलैब भेजा जाये। सभी एलटी/एलए अपने अधीन समस्त प्रशिक्षित आशाओं से सभी बुखार के रोगियों की नियमित जाँच कराये। डेंगू एवं मलेरिया के रोगी मिलने पर तत्काल कैम्प का आयोजन कर कम से कम 50 घरों की जाँच करायी जाये।”

साफ पानी में पनपता है डेंगू का लार्वा –

मलेरिया निरीक्षक पी0के0 सिंह ने कहा कि “डेंगू का लार्वा साफ पानी में पनपता है। कूलर, पानी टंकी, गमले आदि में पानी एक सप्ताह से अधिक समय तक भरा रहता है तो एडीज द्वारा दिए जाने वाले अंडे से लार्वा, प्यूपा के बाद मच्छर बन जाते हैं। इसी नासमझी के बजह से मच्छरों का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। उन्होंने कहा कि डेंगू बुखार होने पर चिकित्सक के सलाह पर ही किसी भी दवा का सेवन करें।

इस मौके पर मण्डलीय मुख्यालय से संयुक्त निदेशक डॉ0 सुबोध सिन्हा, डॉ0 प्रेमनाथ, सहायक मलेरिया अधिकारी आर0के0 सिंह, मलेरिया निरीक्षक अनिल दूबे, देवाशीष पाण्डेय, आशीष कुमार आईडीएसपी, वीबीडी कन्सल्टेन्ट कुमार शुभम, निजी चिकित्सालयों एवं परियोजना चिकित्सालयों के चिकित्सक एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

You cannot copy content of this page