सोनभद्र

हिंदू समाज पर हो रहे हमलों के विरोध में विहिप और बजरंग दल ने डीएम को सौंपा ज्ञापन

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट पहुँच बीते दिनों देश के कई हिस्सों में हिंदुओं के ऊपर हमला कर हिंदू समाज को आतंकित करने का षड्यंत्र करने वालों के विरोध में शांतिपूर्ण तरीके से प्रदर्शन कर राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपा।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि “आज देश एक विकट परिस्थिति से जूझ रहा है जिसकी ओर हम आपका ध्यान आकर्षित करना चाहते हैं। देश में जिहादी तत्व घृणा और आतंक का वातावरण निर्माण कर रहे हैं। कभी “सर तन से जुदा गैंग” सक्रिय होता है तो कभी ‘लव जिहाद’ या ‘जिहाद’ के अन्य प्रकारों से हिंदू समाज को आतंकित करने का षड्यंत्र किया जा रहा है। हिंदू संगठनों उनके कार्यकर्ताओं और हिंदू नेताओं पर हमले कर उनकी हत्या करने की कई घटनाएं सामने आई हैं । 8 जनवरी 2023 को असम के करीमगंज जिले के लोविरपुरा में बजरंग दल के एक 16 वर्षीय कार्यकर्ता शंभू कैरी की एक जिहादी द्वारा चाकू से गोदकर निर्मम हत्या कर दी गई। पिछले 2 वर्षों में ही बजरंग दल के 9 कार्यकर्ताओं की हत्या हुई है और 32 कार्यकर्ताओं पर हमले हुए हैं, जो घटना अभी दिल्ली में हुई है वह भी चिंता पैदा करती है जिसमें दो हत्यारों ने एक हिंदू व्यक्ति की निर्मम हत्या कर दी और उसके 32 टुकड़े करने के बाद कहा कि उसके निशाने पर कई हिंदू नेता भी हैं। आतंक फैलाने के लिए किए गए इन हमलों में दो नई रणनीतियां सामने आ रही हैं। हमलों के लिए नाबालिगों को आगे किया जा रहा है जो बकरों की कुर्बानी और मदरसों की शिक्षा के कारण पहले से ही क्रूरता और घृणा से कूट-कूट कर भरे होते हैं। कई घटनाओं में उन्होंने हत्या करने वाले गैंग को भी सुपारी दी है जैसा कि दिल्ली के हत्याकांड से स्पष्ट हुआ है।”

वक्ताओं ने मांग करते हुए कहा कि घृणा फैलाने व झूठे विक्टिम कार्ड खेलकर मुस्लिम समाज को भड़काने वाले मौलवियों व नेताओं पर नियंत्रण करने के लिए एक कठोर कानून बनाया जाए। वहीं इन हमलों में सम्मिलित अवयस्कों को वयस्क के समान माना जाए जिससे अवयस्कों को मिलने वाला संरक्षण इन क्रूर हमलावरों और हत्यारों को न मिल सके। ऐसे हमलों में अक्सर हिंसा के लिए प्रेरित करने वाले तत्व विभिन्न नामों से सामने आते रहते हैं। सिम्मी, पीएफआई व सिटीजन फोरम आदि केवल नाम है, प्रेरक तत्व जिहादी विचारधारा है जिस पर रोक लगाने के लिए एक आवश्यक कठोर कानून बनाना चाहिए और घृणा का वातावरण बनाने में मदरसों पर नियंत्रण की प्रभावी व्यवस्था बनानी चाहिए। उन्होंने कहा कि वह विश्वास करते हैं कि उनके कुशल नेतृत्व में वर्तमान सजग व सशक्त केन्द्र सरकार हिंदू समाज को हिंसा और घृणा के इस वातावरण से अवश्य मुक्त कराएँगी।

इस दौरान विहिप विभाग मंत्री राजेश सिंह, विभाग संगठन मंत्री सतीश, जिला संयोजक बजरंग दल संजीव गुप्ता, वीर बहादुर सिंह, नागेंद्र राय, देवानंद चौबे प्रान्त आयाम प्रमुख विहिप, दीपक सिंह समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

You cannot copy content of this page