राष्ट्रीय

भारतीय जनता पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में लिए गए कई महत्वपूर्ण फैसले

भारतीय जनता पार्टी की दो दिवसीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक दिल्ली में सोमवार से शुरू हुई । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत बीजेपी के तमाम पदाधिकारी इस बैठक में शामिल हुए । पहले दिन के समापन से पहले बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए ।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने कमजोर बूथों की पहचान करने और उन्हें मजबूत करने का आह्वान किया। इसके बाद नड्डा ने बताया कि 72,000 बूथों की पहचान की गई है और पार्टी के कार्यकर्ता 1.32 लाख बूथों पर पहुंच गए हैं।

आइए सबसे पहले बात करते हैं उन राज्यों की जहां पर साल 2023 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। इन राज्यों में- मध्य प्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, त्रिपुरा, तेलंगाना, मेघालय, नगालैंड और मिजोरम हैं। अगर इन राज्यों में सत्ताधारी दलों की बात करें तो एमपी, कर्नाटक और त्रिपुरा में भाजपा शासन है, जबकि मेघालय और त्रिपुरा में भाजपा गठबंधन है। वहीं, छत्तीसगढ़ और राजस्थान दो ऐसे राज्य हैं, जहां भाजपा फिर से सत्ता में वापसी की राह देख रही है।
अगर बात करें भाजपा के मिशन 2024 की तो वह एक बार फिर से केंद्र में सत्ता में आना चाहती है। ऐसे में लोकसभा का सेमीफाइनल माने जा रहे 2023 के विधानसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन उसके लिए काफी अहम होगा।

बता दें, भाजपा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर पर हो रही थी। बैठक में प्रधानमंत्री मोदी, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा, भाजपा महासचिव (संगठन) बीएस संतोष, राजनाथ सिंह, निर्मला सीमारमण, एस जयशंकर समेत भाजपा के दिग्गज नेता मौजूद हैं। इसके अलावा 35 केंद्रीय मंत्री, 12 राज्यों के मुख्यमंत्री और सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के अध्यक्ष भी बैठक में हिस्सा ले रहे हैं।

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

You cannot copy content of this page