Friday, February 3, 2023

परमवीर चक्र विजेता रिटायर्ड सूबेदार मेजर योगेंद्र यादव के नाम होगा अंडमान निकोबार में एक द्वीप

Must Read

प्रधानमंत्री मोदी द्वारा परमवीर चक्र विजेता योगेंद्र यादव के ऐतिहासिक सम्मान से नवाजे जाने के बाद कारगिल योद्धा योगेंद्र यादव के पैतृक गांव बुलन्दशहर के औरंगाबाद अहीर में जश्न का माहौल है। लोग यहां ढोल नगाड़ों के साथ गीत गाकर अपनी खुशी का इजहार कर रहे हैं।
बता दें कि केंद्र सरकार की ओर से परमवीर चक्र विजेताओं को विभिन्न प्रकार के सम्मानों से नवाजा जा रहा है।
भारतीय सेना के वीर योद्धा योगेंद्र यादव को प्रधानमंत्री मोदी ने एक ऐतिहासिक सम्मान से नवाजते हुए अंडमान निकोबार के 21 उपमहाद्वीप में से एक द्वीप का नाम रिटायर्ड सूबेदार मेजर योगेंद्र यादव के नाम पर कर दिया है।
योगेंद्र यादव के नाम पर उपमहाद्वीप का नाम करने के बाद सूबेदार मेजर योगेंद्र यादव के पैतृक गांव में ग्रामीणों ने देश के प्रधानमंत्री का धन्यवाद अदा करते हुए कहा कि यह उनके गांव, उनके परिवार, जनपद बुलंदशहर समेत पूरे देश के लिए गर्व की बात है। गौरतलब है कि कारगिल युद्ध में सूबेदार मेजर योगेंद्र यादव ने दुश्मन की 17 गोली अपनी छाती पर झेलने के बाद भी दुश्मनों के छक्के छुड़ा दिए थे। हज़ारों फिट ऊंची पहाड़ियों पर माईनस टेंपरेचर में 17 गोलियां लगने के बाद भी उनके क़दम नहीं लडखडाये और उन्होंने वहां अपना तिरंगा फहराया। फिलहाल इस सम्मान के बाद उनके गांव में जश्न का माहौल है और पूरा गांव बेसब्री से योगेंद्र का इंतज़ार कर रहा है।

ताज़ा ख़बरें

ब्रेकिंग : हार्डकोर नक्सली मुन्ना विश्वकर्मा और लालव्रत कोल की कोर्ट में पेशी आज, थोड़ी देर में सुनाया जा सकता है फैसला

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता) सोनभद्र । ● हार्डकोर नक्सली मुन्ना विश्वकर्मा और लालव्रत कोल की पेशी आज ● विशेष न्यायाधीश एससी/एसटी कोर्ट...

सम्बंधित ख़बरें

You cannot copy content of this page