लखीमपुर खीरी

डीएम ने विधायक संग नक्शे व जमीन पर समझी छोटी काशी के प्रस्तावित कॉरिडोर की कार्ययोजना, किया मंथन

उमेश शर्मा (संवाददाता)

– डीएम-एसपी, विधायक ने कंसल्टेंट एजेंसी के साथ किया स्पॉट विजिट, बनी रणनीति

गोला खीरी । गोला की सांस्कृतिक विरासत को संजोने व संवारने, परंपराओं के संरक्षण, संवर्द्वन तथा पर्यटन को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शनिवार को विधायक अमन गिरी, डीएम महेंद्र बहादुर सिंह, एसपी गणेश प्रसाद साहा ने छोटी काशी गोला का स्थलीय भ्रमण कर नक्शे व जमीन पर प्रस्तावित कॉरिडोर, पाथवे, पर्यटन विकास को बारीकी से समझा।

विधायक, डीएम-एसपी ने पूरे प्रस्तावित कॉरिडोर परिसर के भ्रमण के दौरान तीर्थ परिसर का जीर्णोद्धार, सौंदर्यीकरण, समतलीकरण, प्रस्तावित मुख्य प्रवेश द्वार, अतिविशिष्ट प्रवेश द्वार, अन्य द्वारों, फूड व पार्किंग जोन सहित श्रद्धालुओं के लिए मूलभूत सुविधाओं के लिए किए जाने वाले प्रस्तावित प्रबंधों की जानकारी ली।

उन्होंने प्रस्तावित कॉरिडोर परिसर में पड़ने वाले पीलीभीत धर्मशाला, कानपुर धर्मशाला, बरेली धर्मशाला, अनगराम धर्मशाला, महादेवा धर्मशाला, गोस्वामी धर्मशाला का भ्रमण किया। उक्त सभी धर्मशालाओ व उनके परिसरो को किस प्रकार से श्रद्धालुओं के लिए विकसित किया जाएगा, इसपर मंथन, चर्चा हुई। उन्होंने कॉरिडोर परिसर, मंदिर तक आने की संकरी गलियों के विस्तारीकरण, चौड़े पाथवे, रंगरोगन, सौंदर्यीकरण कराने की प्रस्तावित कार्ययोजना भी देखी। स्थलीय भ्रमण के दौरान डीएम ने कंसलटेंट एजेंसी को छोटी काशी गोला के पर्यटन विकास, कॉरिडोर निर्माण को लेकर जरूरी निर्देश दिए। भ्रमण के दौरान एसडीएम अनुराग सिंह, तहसीलदार विनोद गुप्ता, पर्यटन सूचना अधिकारी सुचित चौधरी, सहित अन्य अफसर मौजूद रहे।

छोटी काशी के पर्यटन विकास, कॉरिडोर पर
कंसल्टेंट ने विधायक, डीएम के समक्ष दिया प्रजेंटेशन
गोला तहसील सभागार में विधायक अमन गिरी, डीएम महेंद्र बहादुर सिंह, एसपी गणेश प्रसाद साहा, सीडीओ अनिल सिंह के सामने कंसल्टेंट एजेंसी ने प्रस्तावित मंदिर कॉरिडोर पर प्रस्तुतीकरण दिया। प्रस्तुतीकरण में वर्तमान स्थिति, मंदिर तक आने की संकरी गलियों को दिखाते हुए विस्तारीकरण व चौड़े पाथवे का प्लान रखा गया। प्रेजेंटेशन में फ्लोर प्लान, कैंपस व रोड प्लानिंग, स्टोन बैरियर, रास्तों का सुंदरीकरण, रंगरोगन, सीसीटीवी, स्ट्रीट लाइट का इंटीग्रेटेड कंट्रोल सिस्टम, श्रद्धालुओं का लाइन सिस्टम प्लान, लेज़र शो, वाटर रिसाइक्लिंग प्लांट को रेखांकित किया। श्रद्धालुओ के भीड़ नियंत्रण हेतु लाइन व्यवस्था दिखाई।

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

You cannot copy content of this page