सोनभद्र

गढ़ईडीह नर्वदेश्वर मंदिर पर चल रहे सप्तदिवसीय श्री राम कथा का हुआ समापन

घनश्याम पाण्डेय(संवाददाता)

चोपन। गढ़ईडीह प्रितनगर में स्थित श्री नर्वदेश्वर मंदिर परिसर में आयोजित रामकथा सप्ताह का समापन सोमवार को हो गया। अंतिम दिन कथा स्थल पर महाप्रसाद का वितरण किया गया। मंदिर परिसर में आयोजित संगीतमय रामकथा में साध्वी लक्ष्मी किशोरी जी द्वारा श्रद्धालुओं को रामकथा का रसपान कराया जा रहा था। उन्होंने लंका में श्री राम द्वारा रावण वध की लीला पर प्रकाश डालते हुए बताया कि सब कुछ ज्ञात होने के बाद भी श्री राम के हाथों मृत्यु पाकर रावण ने मोक्ष प्राप्त किया। रावण वध के उपरांत श्री राम लंका का राजपाट विभीषण को सौंप कर पुष्पक विमान से अयोध्या वापस लौटते है। उनके अभिन्न मित्र हनुमान उनके साथ आते हैं। जोरदार जयकारों के साथ अयोध्या में श्री राम का राज्याभिषेक किया गया। कथा में संगीतमय राम भजनों का गायन भी उन्होंने किया। कथा सुनने के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु नर्वदेश्वर मंदिर में पहुंचे। आखरी दिन होने की वजह से बड़ी संख्या में आसपास के ग्रामीण इलाकों के रामभक्त भी कथा सुनने आए। शाम को कथा समापन के उपरांत समिति द्वारा महाप्रसाद का वितरण किया गया। वहीं कार्यक्रम के दौरान समिति के अध्यक्ष सुनिल सिंह द्वारा साध्वी लक्ष्मी जी को अंगवस्त्र व स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया साथ ही समिति के पदाधिकारियों को भी अंगवस्त्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया अंत में कथा में सभी सहयोगियों सहीत समस्त श्रद्धालुओं का आभार व्यक्त किया संचालन मनोज चौबे ने किया|इस मौके पर बारमती देवी, आर पी राम,प्रदीप अग्रवाल, उस्मान अली,बालेश्वर सिंह, शेर खान, सतनाम सिंह, दिनदयाल सिंह, अभिषेक दूबे, धर्मेन्द्र जायसवाल,विकास सिंह छोटकू, रघुराई भारती, हेमंत जायसवाल, राजेश शाहनी, अमर शर्मा, रिक्की भारती, चंद्रकांत सिंह, रामकुमार सोनी, अरविंद उपाध्याय सहीत सैकड़ों की संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे|

सम्बन्धित ख़बरें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button