Tuesday , October 4 2022

7 दशक बाद भारत लौटा चीता, नामीबिया से विशेष विमान से मंगाया गया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कूनो अभयारण्य में नामीबिया से आए चीतों को बाड़े में छोड़कर एक बार फिर देश में चीता युग की शुरुआत कर दी है। उद्यान में एक मंच स्थापित किया गया था, जिस पर चीतों के विशेष पिंजरों को रखा गया और पीएम मोदी ने लीवर चलाकर उनमें से तीन चीतों को एक बाड़े में छोड़ दिया । चीतों को छोड़ने के बाद प्रधानमंत्री ने कैमरे से उनकी तस्वीरें ली, इसके बाद उन्होंने चीता मित्रों के साथ संवाद किया। इस दौरान उनका एक वीडियो संदेश प्रसारित हुआ, जिसमें प्रधानमंत्री ने कहा कि चीते हमारे मेहमान हैं, उनको देखने के लिए कुछ समय का धैर्य और रखना होगा। उद्यान में एक मंच स्थापित किया गया था, जिस पर चीतों के विशेष पिंजरों को रखा गया और पीएम मोदी ने लीवर चलाकर उनमें से तीन चीतों को एक बाड़े में छोड़ दिया ।

कुनो लाए गए प्रत्येक चीते को यात्रा के दौरान कुछ भी खाने को नहीं दिया गया । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा उन्हें खास बाड़ों में छोड़ने के कुछ देर बाद सभी को भोजन दिया गया । कुनो में इन चीतों को रिहा करने के लिए एक विशेष मंच तैयार किया गया था।  इन चीतों के बाड़े के लिवर को दबा कर पीएम मोदी ने इन्हें खास बाड़ों में रिहा किया । शेष चीतों को उपस्थित अन्य मेहमानों ने दूसरे बाड़ों में छोड़ा.
इन सभी चीतों की उम्र दो से ढाई साल के बीच है। इनके मूवमेंट्स पर नजर रखने के लिए इन्हें सेटेलाइट कॉलर पहनाए गए हैं । इन्हें फिलहाल क्वारंटाइन इन्कोल्जर करार दिए खास बाड़ों में एक महीने तक रखा जाएगा । फिर इन्हें नेशनल पार्क के खुले जंगलों में छोड़ दिया जाएगा ।
कुनो नेशनल पार्क में अवैध शिकार पर रोक लगाने के लिए भारी सुरक्षा बंदोबस्त किया गया है । प्रत्येक चीते की 24 घंटे देखभाल करने के लिए एक समर्पित मॉनीटरिंग दस्ते का गठन किया गया है।

‘प्रोजेक्ट चीता’ के प्रमुख एसपी यादव के मुताबिक चीतों के लिए कुनो का चयन बहुत सोच-समझकर किया गया है । एक तो कुनो नेशनल पार्क बेहद खूबसूरत है। फिर यहां छोटी पहाड़ियों और जंगलों समेत बड़े-बड़े हरी घास के मैदान फैले हुए हैं । ऐसे में चीतों के पुनर्वास के लिहाज से कुनो नेशनल पार्क आदर्श जगह साबित होगी । कुनो नेशनल पार्क विंध्याचल पर्वत श्रृंखला के उत्तरी तरफ 344 वर्ग किमी के क्षेत्रफल में फैला हुआ है ।

 

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com