Tuesday , September 27 2022

द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती का 99 साल में निधन, पीएम ने जताया दुःख

द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती का मध्य प्रदेश के नरसिंहपुर में निधन हो गया । 99 वर्षीय शंकराचार्य स्वरूपानंद पिछले काफी दिनों से बीमार चल रहे थे । उन्होंने शनिवार दोपहर 3 बजे के करीब अपने आश्रम में अंतिम सांस ली। सांस लेने में तकलीफ के कारण पिछले दिनों जबलपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया था। स्वरूपानंद सरस्वती का जन्म 2 सितंबर 1924 में हुआ था और वह द्वारका और ज्योतिर्मठ पीठ के शंकराचार्य थे । उनके निधन से देश में शोक की लहर दौड़ गई है ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके निधन पर दुख जताया है. प्रधानमंत्री ने लिखा है कि द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है । शोक के इस समय में उनके अनुयायियों के प्रति मेरी संवेदनाएं । ओम शांति!

गृहमंत्री अमित शाह ने ट्वीट कर लिखा, द्वारका शारदा पीठ के शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी के निधन का दुःखद समाचार प्राप्त हुआ। सनातन संस्कृति व धर्म के प्रचार-प्रसार को समर्पित उनके कार्य सदैव याद किए जाएंगे। उनके अनुयायियों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को सद्गति प्रदान करें। ॐ शांति

9 साल की उम्र में स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती ने अपना घर छोड़ दिया था । जिसके बाद उन्होंने भारत के प्रत्येक प्रसिद्ध तीर्थों, स्थानों और संतों के दर्शन करते हुए वे काशी पहुंचे। कम लोग ही जानते हैं कि स्वामी स्वरूपानन्द सरस्वती ने आजादी के लड़ाई में वाराणसी में 9 और मध्यप्रदेश की जेल में 6 महीने की सजा भी काटी थी । इस दौरान वो करपात्री महाराज की राजनीतिक दल राम राज्य परिषद के अध्यक्ष भी थे।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com