Friday , September 30 2022

गणेश चतुर्थी आज, गणपति स्थापित में दिशा का रखें ध्यान

आज गणेश चतुर्थी का त्योहार है । हिंदू पंचांग के मुताबिक, भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को गणेश चतुर्थी का पर्व मनाया जाता है. माना जाता है कि इसी दिन भगवान गणेश का जन्म हुआ था। यूं तो हर महीने में गणेश चतुर्थी आती है लेकिन भाद्रपद माह में आने वाली शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि को काफी खास माना जाता है । गणेश चतुर्थी का त्योहार पूरे 10 दिनों तक मनाया जाता है । इस दिन लोग घर में गणपति बप्पा की मूर्ति की स्थापना करते हैं और पूरे 10 दिन उनकी पूजा-अराधना करते हैं । 10 वें दिन अनंत चतुर्दशी के दिन गणेश जी का विसर्जन किया जाता है । विघ्नहर्ता गणेश की विधि अनुसार पूजा करने से भक्तों के सभी दुख दूर हो जाते हैं। जिन भक्तों पर भगवान गणेश की कृपा बनी रहती है उन्हें जीवन में हमेशा सफलता हाथ लगती है।

इस बार गणेश चतुर्थी पर ग्रहों की स्थिति एक विशेष संयोग बन रही है। इस गणेश चतुर्थी पर चार प्रमुख ग्रह अपनी-अपनी राशि में मौजूद रहेंगे । पंचांग के मुताबिक, सूर्य सिंह राशि में, बुध कन्या राशि में, गुरु मीन राशि में और शनि मकर राशि में विराजमान रहेंगे । गणेश चतुर्थी पर ग्रहों का ऐसा संयोग 300 साल बाद बना है । ऐसे में गणेश पूजा का महत्त्व बहुत अधिक बढ़ गया है ।

आज गणेश चतुर्थी पर चंद्रदर्शन नहीं करना चाहिए । मान्यता है कि गणेश चतुर्थी के दिन चंद्र दर्शन करने से कलंक लगता है ।

गणपति स्थापित में दिशा का रखें ध्यान

गणपति की मूर्ति को कभी भी दक्षिण दिशा की ओर मुख करके नहीं रखना चाहिए और ना ही दक्षिण कोने में मूर्ति की स्थापना करनी चाहिए। गणपति की मूर्ति स्थापित करने के लिए उत्तर पूर्व यानी ईशाण कोण को सबसे उत्तम माना गया है। साथ ही मूर्ति को घर की पश्चिम या उत्तर दिशा में भी रख सकते हैं।

विघ्नहर्ता गणेश की विधि अनुसार पूजा करने से भक्तों के सभी दुख दूर हो जाते हैं। जिन भक्तों पर भगवान गणेश की कृपा बनी रहती है उन्हें जीवन में हमेशा सफलता हाथ लगती है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com