Tuesday , October 4 2022

सतर्कता : मंकी पॉक्स को लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । कोरोना संक्रमण अभी समाप्त नहीं हुआ है, वहीं मंकी पाक्स संक्रमण ने देश में दस्तक दे दी है। मंकी पॉक्स के केसों को देखते हुए योगी सरकार ने इस संक्रमण को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए हैं। प्रदेश में भले ही इस संक्रमण को लेकर अभी कोई भी मरीज नहीं है, लेकिन स्‍वास्‍थ्‍य विभाग बीमारी से लड़ने के लिए पूरी तरह से अलर्ट है। जिसके तहत पीएचसी-सीएचसी के प्रभारियों को सतर्कता बरतते हुए मरीज मिलने पर तुरंत ही सूचना देने के निर्देश दिए गए हैं। शासन स्तर से निर्देश जारी होने के बाद जिले का स्वास्थ्य महकमा भी अलर्ट हो गया है। विभाग ने सभी चिकित्सालयों व स्वास्थ्य केंद्रों को मंकी पॉक्स की रोकथाम व बचाव के लिए दिशा-निर्देश जारी कर अलर्ट रहने को कहा है।

स्वास्थ्य विभाग ने सभी स्वास्थ्य केंद्रों को मंकी पाक्स के लिए सतर्कता बरतने के लिए एडवाइजरी जारी कर दी गई है। जिसके तहत मंकी पाक्स से प्रभावित देशों की यात्रा कर लौटने वालों पर निगरानी रखी जाएगी। अस्पतालों में बुखार के मरीजों में मंकी पाक्स के लक्षण होना प्रतीत होता है तो उसकी सूचना संबंधित चिकित्साधिकारी को दी जाएगी। उसके सैंपल लेने की व्यवस्था की गई है और जांच रिपोर्ट आने तक मरीज को क्वारंटाइन किया जाएगा। अभी यहां जांच की कोई व्यवस्था नहीं है। इसलिए सैंपल लेकर जांच के लिए नेशनल वायरोलाजी इंस्टीट्यूट पूणे को भेजा जाएगा। फिलहाल यहां किसी प्रकार का कोई मरीज नहीं है।

मंकी पॉक्स के लक्षण मंकी पाक्स संक्रमण एक वायरस से होता है। इसमें भी स्माल पाक्स की तरह ही लक्षण दिखाई देते है। इसके तहत तेज बुखार आ सकता है। सिरदर्द की शिकायत हो सकती है। इसमें त्वचा पर लाल चकत्ते या फफोले दिखाई देते हैं। शरीर में लगातार कमजोरी महसूस होती है। बदन की गांठों में सूजन आना भी इसका लक्षण है। वहीं इस संक्रमण से ग्रसित मरीज में मांसपेशियों व पीठ में दर्द की समस्या भी हो सकती है।

वहीं सीएमओ डॉ0 आर0एस0 ठाकुर ने बताया कि “मंकी पाक्स को लेकर जिले का स्वास्थ्य विभाग अलर्ट है। सभी चिकित्सालयों एवं स्वास्थ्य केंद्रों को सतर्क रहने को कहा गया है। चिकित्सालयों में पहुंचने वाले मरीजों में मंकी पॉक्स के लक्षण प्रतीत होने पर उसका सैंपल लेने को कहा गया है। संदिग्ध मरीजों के सैंपल पुणे स्थित लैब भेजे जाएंगे।”

उन्होंने जनपदवासियों से अपील करते हुए कहा कि यदि किसी भी व्यक्ति में मंकी पॉक्स के लक्षण दिखाई देते है तो वह तुरंत नजदीकी चिकित्सालय में जाकर जांच कराए। ताकि मंकी पाक्स जैसी बीमारी को फैलने से बचाया जा सके। उन्होंने लोगों को बंदरों से दूर रहने की सलाह दी है।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com