Sunday , September 25 2022

ग्रामवासियों ने की कनहरा में इंटर कालेज खोले जाने की मांग

अरविन्द कुमार (संवाददाता)

कनहरा(ओबरा)। आजादी के 75 साल बाद भी कनहरा क्षेत्र में इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई के लिए कोई कॉलेज नहीं बन पाया है। इससे क्षेत्र के लोगों में काफी नाराजगी है। लोगों ने इंटरमीडिएट कॉलेज खुलवाने के लिए कई बार प्रयास किया लेकिन उन्हें हर बार आश्वासन के सिवाय कुछ भी हासिल न हो सका। तहसील ओबरा से 35 किमी की दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत कनहरा की गणना विकास खंड के अति पिछड़े गांवों में होती है। इस गांव की आबादी लगभग 5 हजार से ऊपर है। इसके आसपास बेलगड़ी, चकवरिया, बाड़ी, साजाबहरा, मझौली, पटवा टोला, सेमरा आदि टोला हैं। इन सभी टोलो के छात्र-छात्राओं को इंटरमीडिएट की पढ़ाई के लिए कोई सुविधा नहीं है। मजबूरी में इन गांवों के छात्र-छात्राओं को ओबरा,चोपन व मध्यप्रदेश में प्रवेश लेना पड़ता है। जिसके चलते गरीब अभिभावक अपने बच्चों को आगे की पढ़ाई का भार न उठा पाने के कारण उनकी पढ़ाई बंद करवा देते है। क्षेत्र के लोगों ने कई बार जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों को कनहरा में एक इंटरमीडिएट कॉलेज खुलवाने की ओर अवगत कराया लेकिन हर बार ग्रामीणों को आश्वासन दिया गया। लेकिन उस पर अमल आज तक न हो सका। इससे ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। इस संबंध में ग्रामीणों ने जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए कनहरा में एक इंटरमीडिएट कॉलेज खुलवाने की मांग की है। वही गुरुवार को राजकीय हाईस्कूल सीधहवा के छात्रों ने भी सांकेतिक प्रदर्शन कर जिला प्रशासन का ध्यान आकृष्ट कराते हुए इंटरमीडिएट कालेज खुलवाने की मांग की है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com