Saturday , September 24 2022

सोनिया गांधी से ईडी की पूछताछ मामले को लेकर कांग्रेस में उबाल, तहसील व जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन

आनन्द कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । केंद्र सरकार के इशारे पर ईडी द्वारा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को जांच के नाम पर बार-बार परेशान करने से अक्रोशित कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने आज जिला कांग्रेस कमेटी जिला अध्यक्ष रामराज सिंह गोड के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय तथा निगम मिश्रा के नेतृत्व में तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान कांग्रेस के प्रदेश सचिव कमलेश ओझा ने कहा कि “केंद्र सरकार केवल बदले की भावना से कार्यवाही कराने का प्रयास कर रही है। और विपक्ष की आवाज को दबाने का काम करना चाहती है। लेकिन सोनिया गांधी जी देश की सशक्त नेता है। वो डरने वाली नही है। केंद्र सरकार सरकारी एजेंसियों के दम पर विपक्ष की आवाज को दबाने का काम कर रही है।”

जिलाध्यक्ष रामराज सिंह गोंड़ व शहर अध्यक्ष राजीव त्रिपाठी ने कहा कि “सोनिया गांधी त्याग की प्रतिमूर्ति है।, सोनिया गांधी ने दो-दो बार प्रधानमंत्री की कुर्सी को ठुकराने का काम किया है। सोनिया गांधी के खिलाफ ईडी का कार्यवाही दुर्भावना से प्रेरित है। इसको लेकर कांग्रेस सड़क से लेकर सदन तक आवाज उठायेगी।”

उक्त मौके पर अहमद खा नूर, जयशंकर भारद्वाज, राजबली पांडेय, बाबूलाल पनिका, लल्लू राम पांडेय, पंकज मिश्रा, आकृति निर्भया, आशीष कुमार सिंह, मनोज ओझा, आरपी पासवान, शत्रुंजय मिश्रा, कैलाश गोंड, रामविलास पनिका, राधवेंद्र कुमार, शेखर शरण सिंह, सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

वहीं तहसील मुख्यालय पर पूर्व जिला महासचिव निगम मिश्रा निगम मिश्रा के नेतृत्व में सदर उपजिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा।

पूर्व जिला महासचिव निगम मिश्रा और युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव धीरज पांडेय ने संयुक्त रूप से कहा कि कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्षा की तबीयत कई दिनों से काफी खराब चल रही है और उनका इलाज देश और विदेश में चल रहा है। अभी वो सर सुंदर लाल अस्पताल में भर्ती थी। उसके बावजूद केंद्र सरकार राजनीतिक बदले की भावना से ग्रसित होकर ईडी के माध्यम से सोनिया गांधी की अंतरराष्ट्रीय छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रही है और उन्हें अपमानित करने का कार्य कर रही है। कई वर्ष पूर्व ही नेशनल हेराल्ड का मामला समाप्त हो चुका था लेकिन मोदी सरकार विपक्ष को बदनाम करने तथा उनकी अंतरराष्ट्रीय छवि को धूमिल करने पर पूरी तरह उतारू है। केंद्र सरकार चाहती है कि कांग्रेस के राष्ट्रीय नेताओं को मीडिया और संवैधानिक संस्थाओं के माध्यम से इतना बदनाम कर दिया जाए कि जनता में कांग्रेस और उसके नेताओं की छवि काफी फीकी पड़ जाए और हम अपना राजनीतिक लाभ लेते रहे।”

तहसील मुख्यालय पर प्रदर्शन करने वालों में शैलेंद्र चतुर्वेदी, आशीष शुक्ला, प्रमोद पांडेय, कमल नारायण भारती, वीरेंद्र भारती, अनिल मिश्रा, आशीष पांडेय, आशुतोष पांडेय, चंदन पांडेय, राजू सोनी आदि उपस्थित रहे।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com