Saturday , October 1 2022

उभ्भा कांड की तीसरी बरसी आज, पूरे इलाके में प्रशासन की पैनी निगाह, किसी को कार्यक्रम की इजाजत नहीं

राजकुमार गुप्ता/विवेकानंद मिश्र (संवाददाता)

घोरावल । 17 जुलाई 2019 को जमीनी विवाद को लेकर घोरावल के कस्बा उम्भा ग्राम में ताबड़तोड़ गोलियां चली थी जिसमें 11 लोग शहीद हो गए थे । इस घटना ने पूरे देश को हिलाकर रख दिया था । घटना के बाद सभी राजनीतिक दलों ने इसे अपना मुद्दा बनाया था और योगी सरकार को घेरने की कोशिश की थी लेकिन सीएम योगी ने खुद दौरा कर न सिर्फ विरोधियों की बोलती बंद कर दी बल्कि विपक्ष को जिम्मेदार भी ठहरा दिया ।

हालांकि कांग्रेस ने उभ्भा कांड में अगुवाई कर रहे रामराज को कांग्रेस में शामिल करते हुए जिलाध्यक्ष बनाया और बाद में ओबरा विधानसभा का टिकट भी दिया । हालांकि कांग्रेस का चुनाव में कोई फायदा नहीं हुआ और बुरी तरह मुंह की खानी पड़ी ।

रविवार को उभ्भा कांड की तीसरी बरसी है, जिसे देखते हुए प्रशासन ने पूरे इलाके को छावनी में तब्दील कर दिया।आने-जाने वाले लोगों पर नजर रखी जा रही है ताकि कोई भी बाहरी व्यक्ति वहां प्रवेश न कर सके।

कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने घोरावल तहसीलदार ज्ञानेंद्र कुमार यादव को एक ज्ञापन सौंपा । जिलाध्यक्ष रामराज गोंड का कहना है कि कोविड का बहाना लेकर इस घटना में मारे गए लोगों की बरसी पर श्रद्धांजलि देने से भी प्रशासन रोक रहा है जो उचित नहीं है।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com