Saturday , October 1 2022

चोपन गांव में सूखने लगे कुंए, गहराया पेयजल संकट

घनश्याम पांडेय(संवाददाता)

समय पर बरसात न होने से पानी का सतह खिसका टैंकर से पेयजल कराई जा रही मुहैया

चोपन। स्थानीय ब्लाक के चोपन गांव के टोला गढ़ईडीह में पेयजल संकट गहराने लगा है। समय से बरसात न होने की वजह से जहाँ एक तरफ खेतीबाड़ी चौपट हो रही है तो वहीं दूसरी तरफ गांव के अधिकांश चापाकल ने पानी देना छोड़ रहा है जल स्तर के तेजी से नीचे जाने के कारण ताल तलैया व कुआं अब सूख गए है। पेयजल के लिए ग्रामीणों को परेशानीयों का सामना करना पड़ रहा है । गड़ईडीह के ग्रामीण नवल गोंड़, जगरदेव गोंड़, विद्या गोंड़, शीतल गोंड़, शिवमंगल गोंड़ आदि का कहना है कि बरसात न होने के कारण हम लोगों का कुआं पूरी तरीके से सूख गया है जिससे कि पानी की समस्या उत्पन्न हो गई है इंसान के साथ साथ पशुओं को भी पानी नहीं उपलब्ध हो पा रहा है किसी तरह हम लोगों को पीने का पानी ग्राम प्रधान द्वारा टैंकरों से उपलब्ध कराया जा रहा है। परन्तु गांवों के कुओं के सुख जाने के कारण पेयजल की किल्लत होने लगी है। अगर कुछ दिन और इसी प्रकार की स्तिथि बनी रही तो लोगों को कोसों दूर पेयजल लाने के लिए जाना होगा। हालात यह है कि मवेशी भी अपनी प्यास नही बुझा पा रहे हैं। वहीं ग्राम प्रधान दुर्गेश यादव ने कहा कि एक जुलाई से टैंकर स़चालन बंद करा दिया गया है परंतु तत्काल उपजी समस्या को ध्यान में रखते हुए टैंकर के माध्यम से पेयजल उपलब्ध कराने का कार्य किया जा रहा है साथ ही ग्रामीणों को पेयजल के लिए हो रही समस्या से संबंधित अधिकारियों को पत्राचार के माध्यम से अवगत कराया गया है उम्मीद है जल्द ही कोई ठोस कदम उठाया जायेगा ताकि ग्रामिणों को समुचित पेयजल उपलब्ध हो सके।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com