Tuesday , October 4 2022

राष्ट्र की रक्षा को एकजुटता जरूरी: कमल नयन दास

राजेश पाठक (संवाददाता)
– लक्ष्मीबाई, कार्तिकेय, गणेश जैसी हो संतान : साध्वी यशोदा
-संतों की मौजूदगी में गरीब कन्याओं की कराई गई शादी
– कलश विसर्जन के साथ यज्ञ का हुआ समापन
– भंडारे में भक्तगणों ने किया प्रसाद ग्रहण

सोनभद्र। रामगढ़ कस्बा में गुरौटी रोड स्थित श्री शिव मंदिर प्रांगण में चल रहे नौ दिवसीय शनि महाराज महायज्ञ शुक्रवार को कलश विसर्जन के साथ सकुशल सम्पन्न हो गया। वृहस्पतिवार को संतों की मौजूदगी में गरीब कन्याओं की शादी कराई गई। साथ ही दान दाताओं द्वारा जरूरत की सभी सामग्री वर-वधुओं को आशीर्वाद स्वरूप प्रदान किया गया।
मणिराम छावनी अयोध्या राम जन्मभूमि के उत्तराधिकारी संत शिरोमणि कमलनयन दास जी महाराज ने अपने आशीर्वचन देते हुए कहा कि राष्ट्र की रक्षा के लिए एकजुटता जरूरी है। यह तभी संभव है जब सभी लोग सारे भेदभाव को भुलाकर एक हो जाएं। महाराज जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी भी चाहते हैं कि राष्ट्र की रक्षा हो, लेकिन इसके लिए भारतीय संविधान की धारा 30 बाधक है। जब धारा 30 समाप्त करके जनसंख्या नियंत्रण के लिए समान संहिता लागू होगी। तभी राष्ट्र की रक्षा हो सकेगी और हमारा देश पुनः विश्व गुरु बनेगा। महाराज जी ने कहा कि भगवान श्री राम जब जंगल में 14 वर्ष के लिए गए और वहां पर जंगलराज समाप्त करके सभी लोगों को अपनाया तो रामराज्य स्थापित हो गया। इसी प्रकार से जंगली बाबा का भी मकसद राष्ट्र की रक्षा करना है चाहे इसके लिए यज्ञ कराना पड़े, कीर्तन अथवा गरीब कन्याओं की शादी करानी पड़े।
प्रवचन में गुजरात से पधारी साध्वी यशोदा ने कहा कि अब एकबार फिर रानी लक्ष्मीबाई, सती सावित्री, कार्तिकेय व गणेश जी जैसी संतानों की जरूरत है। साध्वी जी ने आह्वान किया कि जिन कन्याओं की शादी हुई है सभी लोग इसीतरह की संतान पैदा करें। आचार्य गोपाल धर द्विवेदी विंध्याचल, आचार्य हरिओम द्विवेदी वाराणसी, आचार्य राधेश्याम त्रिपाठी व आचार्य अभिषेक शुक्ला विजयगढ़, आचार्य रेवती तिवारी सोनभद्र द्वारा पूजन-अर्चन एवं आहुति दिलाई गई। आचार्य ज्ञान चंद्र पांडे मिर्जापुर, सत्यनारायण महाराज, राज किशोर जी महाराज द्वारा सुनाई गई कथा को भी भक्तगणों ने श्रवण किया।
आयोजन सकुशल संपन्न होने पर हर्ष जाहिर करते हुए जंगली बाबा ने कहा कि इतना बड़ा यज्ञ व कन्याओं की शादी का कार्यक्रम सभी लोगों के सहयोग से ही संभव हुआ है। उन्होंने सभीलोगों का आभार व्यक्त किया है।

संतों की मौजूदगी में इन जोड़ों की हुई शादी

सोनभद्र। भिखारी बाबा जंगली दास जी महाराज ने बताया कि इन जोड़ों की शादी 7 जुलाई को संतों की मौजूदगी में कराई गई। जिसमें सोनी संग रोहित, मेहदी संग कृष्णा, अर्चना संग सुनील, सविता कुमारी संग राजेश, वंदना संग सूरज, सरोज संग रविन्द्र कुमार, निशा संग संजय, जिरावती संग अनिल, लैला संग लालव्रत व मुस्कान संग सुमित शामिल हैं।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com