Sunday , September 25 2022

समय से प्राकृतिक वर्षा न होने से पहाड़ी ग्रामीण अंचलों के किसानों में छाई मायूसी

अरविंद चौबे (संवाददाता)

– प्राकृतिक जल पर आश्रीत खरीफ फसल मक्का, अरहर, बाजरा, उरद, तिल इत्यादि फसल हो रही प्रभावित

मारकुंडी । राबर्ट्सगंज विकास खंड के मारकुंडी ग्राम पंचायत से निकली हुई सोनपंप लिफ्ट परियोजना की नहर को चालू नहीं किया जा रहा है जिससे किसानों की धान की नर्सरी सूखने के कगार पर पहुंच गई है और बहुतेरे किसान पानी के अभाव में अपने खेतों में धान की नर्सरी नहीं डाल पाए हैं l इससे किसानों में असंतोष व्याप्त है।
बताते हैं कि सोनपंप लिफ्ट परियोजना की नहर मारकुंडी ग्राम पंचायत से ही होकर गुजरी है। इस नहर में पानी नहीं छोड़े जाने के कारण मारकुंडी गांव समेत तमाम गांव के किसान पानी के अभाव में अपने खेतों में धान की नर्सरी अभी तक नहीं डाल सके हैं । इस कारण से किसानों की चिंताएं काफी बढ़ती जा रही हैं । मारकुंडी ग्रामपंचायत के सामाजिक कार्यकर्ता राजकुमार यादव कवि ने बताया कि कुछ दिन तक सोन पंप नहर को चालू किया गया लेकिन फिर इसके बाद जब किसानों को पानी की आवश्यकता हुई तो इसे बंद कर दिया गया। इस कारण से यहां के किसान अपने खेतों में धान की नर्सरी पूरी तरह से नहीं डाल सके हैं। जिन किसानों द्वारा धान की नर्सरी डाली दी गई है उसको पानी न मिलने के कारण खेतों में दरारें पड़ने लगी हैं और नर्सरी सूखने के कगार पर पहुंच गई है । इससे किसानों की चिंताएं काफी बढ़ गई हैं। उन्होंने इस पर जिलाधिकारी का ध्यान आकृष्ट कराते हुए तत्काल सोनपंप लिफ्ट नहर को चालू कराए जाने की मांग की है ताकि किसान अपने खेतों में धान की नर्सरी डाल सकें।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com