Sunday , September 25 2022

पिता और बेटी ने एक साथ फाइटर प्लेन उड़ाकर रचा इतिहास

कर्नाटक के बीदर में एक पिता और बेटी ने एक साथ फाइटर प्लेन उड़ाकर इतिहास रच दिया । भारतीय वायुसेना के इतिहास में इससे पहले आज तक किसी पिता ने अपनी बेटी के साथ एकसाथ लड़ाकू विमान नहीं उड़ाया है।

पिता-पुत्री की जोड़ी ने 30 मई को भारतीय वायुसेना के स्टेशन में हॉक-132 विमान से फॉर्मेशन के लिए उड़ान भरी, जहां फ्लाइंग ऑफिसर अनन्या लड़ाकू विमान में स्नातक होने से पहले अपना प्रशिक्षण ले रही हैं ।

एयर कोमोडोर संजय शर्मा को लड़ाकू विमान उड़ाने का लंबा अनुभव एयर कोमोडोर संजय शर्मा 1989 में वायुसेना में फाइटर पायलट के रूप में भर्ती हुए थे। उन्हें मिग-21 स्कवाड्रन को कमांड करने के साथ ही अग्रिम मोर्चे के लड़ाई स्टेशन का नेतृत्व करने और विभिन्न लड़ाकू विमानों को उड़ाने का लंबा अनुभव है।

वहीं, इलेक्ट्रानिक्स एवं कम्यूनिकेशन में बीटेक अनन्या दिसंबर 2021 में फाइटर पायलट के रूप में वायु सेना में भर्ती हुई थीं।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com