Monday , October 3 2022

सांसद और विधायक के द्वारा शिलान्यास बांध का निर्माण कार्य अधुरा छोड़ने का ग्रामीणों ने जताया विरोध

अरविंद चौबे (संवाददाता)

– श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुबन मिशन के तहत बांध निर्माण कार्यों के मानक गुणवत्ता पर लगा प्रश्नचिन्ह

मारकुंडी । श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत नगवां विकास खण्ड क्षेत्र के कोदई क्लस्टर के गांव चिरुई पल्हारी कोदई तीनों ग्राम सभा में किसानों के चहुंमुखी विकास हेतु सन् 2021 में सांसद पकौड़ी लाल कोल और विधायक भूपेश चौबे के कर कमलों के द्वारा तीनों ग्राम सभा में बांध निर्माण का शिलान्यास किया गया था। लेकिन समय बीतने के बावजूद भी सन् 2022 में पल्हारी ग्राम सभा में ठिकेदार के द्वारा बांध निर्माण के गुणवत्ता मानकों को ताक पर रख निर्माण के दौरान वन विभाग के चोरी के बोल्डर से निर्माण कार्य चल रहा था जिसकी शिकायत वन विभाग के सम्बन्धित अधिकारियों को सूचना लगने पर मौके पर वन विभाग के एसडीओ ने पहुंच कर 80 टाली बोल्डर सीज कर दिया। ठिकेदार की चोरी पकड़े जाने के बाद कुछ बोल्डर सुकृत से परमीट पर लाकर आधा अधुरा निर्माण कार्य कर के ठिकेदार फरार हो गया है।

उक्त सम्बन्ध में लवकुश, पोयम, जागेश्वर, रामबहाल खरवार, सुदामा चेरो प्रधान ने बताया कि ठिकेदार के द्वारा आधा अधुरा बांध के निर्माण के साथ पिचिंग कार्य भी अधुरा छोड़ कर फरार हो गया है। जो पहली ही वर्षात अर्धनिर्मित बांध धराशाही हो जायेगी। जो गरीब आदिवासीयों किसानों को फायदा की जगह जल जमाव बहाव‌ से किसानों को भारी क्षति उठानी पड़ेगी। जो जनहित में नहीं है, न ही आज तक बांध निर्माण की लागत की बोर्ड तक नहीं लगाया गया।
इस सम्बन्ध में ग्रामीणों ने जिलाधिकारी से स्थलीय निरिक्षण करा कर उचित कार्रवाई की मांग की है।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com