Saturday , October 1 2022

फर्जी शिक्षक : 35 जिलों के 228 शिक्षकों पर लटकी बर्खास्तगी की तलवार, पढ़ें क्या है पूरा मामला

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

एसटीएफ के पत्र के बाद बेसिक शिक्षा निदेशालय में हड़कंप

एसटीएफ ने 35 जिलों के बीएसए पर लगाये गंभीर आरोप

बेसिक शिक्षा निदेशक ने 35 जिलों के बीएसए को पत्र जारी कर 30 जून तक फर्जी शिक्षकों के विरुद्ध FIR दर्ज कराकर सूचित करने का निर्देश

सोनभद्र में तैनात एक शिक्षक पर अब तक नहीं दर्ज कराई गई ही FIR

सोनभद्र । फर्जी और अनियमित शैक्षणिक दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रहे 35 जिलों के 228 शिक्षकों पर बर्खास्तगी की तलवार लटक गई है। एसटीएफ की जांच के बाद उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दे दिए गए हैं। एसटीएफ ने शिक्षा निदेशालय को भेजे अपने पत्र में सीधे तौर पर कहा है कि विभागीय लापरवाही के चलते इन शिक्षकों द्वारा उच्च न्यायालय से स्टे लेकर नौकरी कर रहे हैं। इसलिए एसटीएफ ने संबंधित बीएसए पर भी कार्रवाई की सिफारिश की है। वहीं एसटीएफ द्वारा सोनभद्र समेत कई अन्य जिलों में भी ऐसे मामलों की गोपनीय जांच कराई जा रही है। संबंधितों की पत्रावलियां और शैक्षणिक अभिलेख खंगाले जा रहे हैं।

जिन शिक्षकों के विरुद्ध एफआईआर के निर्देश दिए गए हैं वे लखनऊ, गोरखपुर, देवरिया, कुशीनगर, महराजगंज, बस्ती, संतकबीरनगर, बलरामपुर, गोंडा , श्रावस्ती, सिद्धार्थनगर, प्रयागराज, कौशाम्बी, प्रतापगढ़, कानपुर नगर, फर्रुखाबाद, कन्नौज, आगरा, फिरोजाबाद, शाहजहांपुर, मथुरा, आजमगढ़, मऊ, बलिया, जौनपुर, गाजीपुर, भदोही, सोनभद्र, सीतापुर, हरदोई, लखीमपुर खीरी, उन्नाव, बाराबंकी, सुल्तानपुर, अमेठी जिले में तैनात हैं। एसटीएफ की जांच में यह पता चला था कि ये शिक्षक फर्जी दस्तावेजों के सहारे नौकरी कर रहे हैं।

एसटीएफ ने 228 शिक्षकों की सूची मई 2022 को विभाग को दी थी। यह सूची ऐसे शिक्षकों की थी, जिनके बारे में जांच के दौरान एसटीएफ ने पाया था कि वे फर्जी और अनियमित शैक्षणिक दस्तावेजों के आधार पर नौकरी कर रहे थे। इनमें सबसे ज्यादा देवरिया में 25 बस्ती में 23 सीतापुर में 15 श्रावस्ती में 12 आजमगढ़ में 10 गोरखपुर में 9 शिक्षक तथा सोनभद्र में एक शिक्षक हैं। इसके अलावा लगभग 29 अन्य जिलों में भी कई शिक्षक ऐसे हैं, जिनका नाम इस सूची में है।

बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेन्द्र विक्रम बहादुर सिंह की तरफ से सभी संबंधित जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों को आदेश दिया गया है कि इन संबंधित शिक्षको के विरुद्ध एफआईआर दर्ज कराकर सूचित करें।

दरअसल, एसटीएफ ने बेसिक शिक्षा विभाग पर गंभीर आरोप लगाया है। एसटीएफ की ओर से कहा गया है कि विभाग की लापरवाही के कारण फर्जी शिक्षक हाईकोर्ट से स्टे लेकर नौकरी कर रहे हैं। एसटीएफ ने संबंधित बीएसए के खिलाफ भी कार्रवाई करने की सिफारिश की है। बताया जा रहा है कि इस पूरे मामले में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारियों के साथ साठगांठ कर इन फर्जी शिक्षकों को बचाने की कोशिश हो रही है। हालांकि बेसिक शिक्षा निदेशक के आदेश के बाद से महकमे में हड़कंप मच गया है। विभागीय सूत्रों की मानें तो अभी कई और फर्जी शिक्षकों के नाम सामने आ सकते हैं । सोनभद्र समेत कई अन्य जिलों में भी गोपनीय जांच चल रही है।

वहीं पूरे मामले पर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हरिवंश कुमार ने बताया कि “सोनभद्र में कुल 45 शिक्षकों के विरुद्ध FIR कराई गई थी यदि अब तक एक शिक्षक के विरुद्ध FIR की कार्यवाही नहीं हो पाई है तो उसे देखवाते हैं कि वह किस स्तर पर लंबित है और उस शिक्षक के विरुद्ध भी तत्काल FIR कराकर निदेशालय को सूचित कर दिया जाएगा।”

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com