अपडेट : दूल्हा ही कर रहा था हर्ष फायरिंग, गिरफ्तार

शान्तनु कुमार/आनंद चौबे

० गिरफ्तार अभियुक्त के कब्जे से आलाकत्ल 01 अदद पिस्टल व कारतूस बरामद

० घटना के बाद पुलिस लॉन मालिकों को पढ़ाएगी नियमों का पाठ

० अब लॉन मालिकों को ग्राउंड में लगाना होगा सीसीटीवी कैमरा- एसपी/डीआईजी

सोनभद्र । बीती रात एक शादी समारोह के दौरान हुए हर्ष फायरिंग में गोली लगने से सेना के जवान की मौत के मामले में पुलिस ने दूल्हे को गिरफ्तार कर लिया है । पुलिस के अनुसार दूल्हा मनीष मद्धेशिया पुत्र स्व0 राधेश्याम, निवासी शीतला मन्दिर ही हर्ष फायरिंग कर रहा था । पुलिस अधीक्षक ने बताया कि आर्मी का जवान बाबूलाल यादव (40) पुत्र दयाराम, निवासी महुंआरी, तेन्दु, थाना रॉबर्ट्सगंज दुल्हे का मित्र था और उसी का पिस्टल लेकर फायरिंग कर रहा था तभी अचानक गोली बाबूलाल को लग गयी जिससे उसकी मौत हो गयी । घटना के बाद परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने मु0अ0सं0-447/2022 धारा 304 भादवि का अभियोग पंजीकृत कर दूल्हा मनीष मद्धेशिया को गिरफ्तार कर लिया । पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्त की निशानदेही पर शादी मे बने स्टेज के पीछे से आलाकत्ल 01 अदद पिस्टल .32 बोर मय 04 अदद जिन्दा कारतूस व 01 अदद फायर शुदा कारतूस बरामद किया गया ।

घटना के बाद जागा प्रशासन

शादी समारोह में हर्ष फायरिंग की घटना के बाद पुलिस पूरी रात हांफती नजर आयी । फायरिंग की घटना में एक सेना के जवान की मौत हो जाने के बाद पुलिस की मुश्किलें बढ़ गयी । पुलिस घटना स्थल पर पूछताछ करने पहुंची तो पता चला कि भीड़ नदारत है और मंडप खाली। पुलिस सीसीटीबी कैमेरा खोजने लगी तो पता चला कि लगा ही नहीं । किसी प्रकार पुलिस मोबाइल फुटेज के सहारे मामले को सुलझा सकी और सही गिरफ्तारी कर पायी ।

इस घटना से सबक लेते हुए पुलिस अधीक्षक/डीआईजी ने कहा कि जितने भी वैवाहिक कार्यक्रमों व अन्य कार्यक्रमों के लिए लॉन देने वाले मालिक हैं उन सभी से ग्राउंड के भीतर सीसीटीवी कैमरा लगवाया जाएगा । साथ ही लॉन मालिक को एक बोर्ड भी लगाना होगा जिसमें दिशा-निर्देश अंकित होंगे । पुलिस कप्तान/डीआईजी अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि कार्यक्रम के समय लिखित एक करार करने की जरूरत है जिसमें शराब न पीने व हर्ष फायरिंग न करने की बात लिखी होनी चाहिए । पुलिस अधीक्षक/डीआईजी ने बताया कि इन सब बिंदुओं को लेकर जल्दी सभी लॉन मालिकों की एक बैठक बुलाई जाएगी और सभी को दिशा-निर्देश दिया जाएगा । साथ ही उन्होंने ऐसे लॉन मालिकों को भी चेतावनी दी है जो पार्किंग की व्यवस्था ना करके वाहनों को सड़कों पर खड़ा करने की अनुमति देते हैं। उन्होंने कहा कि आगे इसकी शिकायत मिली तो उनके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी ।

फिलहाल पुलिस इस घटना को लेकर अब काफी सचेत हो गई है । लेकिन सवाल ये उठता है कि यदि पुलिस पहले नियमों को लेकर सचेत हुई होती तो शायद सेना के एक जवान को अपनी जान गंवानी पड़ती ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
[ngg src="galleries" ids="1" display="basic_slideshow" thumbnail_crop="0"]
Back to top button