अग्निपथ योजना को लेकर देश की तीनों सेनाओं के प्रमुख ने की संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस, कहा- अग्निपथ योजना वापस नहीं ली जाएगी

अग्निपथ योजना को लेकर देश की तीनों सेनाओं के प्रमुख ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस की है। इस प्रेस कांफ्रेंस में थल सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे, वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीआर चौधरी और जलसेना के प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार मौजूद रहे। आपको बता दें कि आज सुबह ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के आवास पर तीनों सेनाओं के प्रमुखों की एक बैठक हुई थी।

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा कि हमारे साथ जो अग्निवीर में जुड़ना चाहता है वो प्रतिज्ञा लेगा कि उसने किसी प्रदर्शन या तोड़फोड़ में हिस्सा नहीं लिया…फौज में पुलिस वेरिफिकेशन के बिना कोई नहीं आ सकता। इसलिए प्रदर्शन कर रहे छात्रों से अनुरोध है कि अपना समय खराब न करें ।

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा कि अग्निपथ योजना वापस नहीं ली जाएगी । अब सेना में भर्ती इसी योजना के तहत होगी ।

लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने कहा, देश की सेवा में बलिदान देने वाले अग्निवीरों को एक करोड़ रुपये का मुआवजा मिलेगा ।

वहीं नौसेना के वाइस एडमिरल डी.के. त्रिपाठी ने कहा कि हमने अपनी भर्ती प्रक्रिया शुरू कर दी है। 25 जून तक हमारा एडवरटाइजमेंट सूचना और प्रसारण मंत्रालय में पहुंच जाएगा। एक महीने के अंदर भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 21 नवंबर को हमारे पहले अग्निवीर हमारे ट्रेनिंग संस्थान में रिपोर्ट करेंगे ।

नौसेना के वाइस एडमिरल डी.के. त्रिपाठी ने कहा कि नौसेना में हम महिला अग्निवीर भी ले रहे हैं। उसके लिए हमारी ट्रेनिंग में जो संशोधन करना है उसके लिए काम शुरू हो चुका है। हमें 21 नवंबर का इंतजार है, मुझे आशा है कि महिला और पुरुष अग्निवीर आईएनएस चिल्का पर रिपोर्ट करेंगे ।

एयर मार्शल एसके झा ने कहा कि IAF में 24 जून से भर्ती प्रक्रिया शुरू हो जाएगी । 24 जून से अग्निवीर बैच नंबर 1 की पंजीकरण प्रक्रिया और 24 जुलाई से चरण 1 ऑनलाइन परीक्षा प्रक्रिया शुरू होगी । पहला बैच दिसंबर तक एनरोल होगा और पहले बैच की ट्रेनिंग 30 दिसंबर से शुरू होगी ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
[ngg src="galleries" ids="1" display="basic_slideshow" thumbnail_crop="0"]
Back to top button