ब्राजील में डेफ ओलंपिक के बैडमिंटन खेल में गोल्ड मेडल जीतने पर आदित्या हुई सम्मानित

उत्तर प्रदेश के महराजगंज जनपद की मूल निवासी 13 वर्षीय आदित्या यादव ने ब्राजील में 1 से 14 मई तक आयोजित डेफ ओलंपिक के बैडमिंटन खेल में गोल्ड मेडल हासिल कर पूरे जिले सहित देश का नाम रोशन किया है। आदित्या की इस बड़ी उपलब्धि पर महराजगंज जिला प्रशासन ने एक कार्यक्रम आयोजित कर उसे प्रशस्ति पत्र एवं प्रोत्साहन राशि देकर सम्मानित किया। वही कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर मौजूद केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने जिले की बेटी की हौसला अफजाई करते हुए उसे एक लाख की प्रोत्साहन राशि देने की घोषणा की है।

बैडमिंटन के खेल में स्वर्ण पदक पाने वाली आदित्या मूल रूप से महराजगंज जनपद के पनियरा विधानसभा क्षेत्र के सिसवा की रहने वाली है। 13 वर्षीय आदित्या जन्म से ही बोल और सुन नहीं सकती। उसके पिता गोरखपुर में रेलवे के कर्मचारी हैं और खेल से भी जुड़े हुए हैं पिता और भाई से प्रेरणा पाकर आदित्य ने भी बैडमिंटन खेलने की शुरुआत की और आज यह बड़ा मुकाम हासिल किया है। ओलंपिक में मेडल हासिल करने के बाद भारत पहुंची आदित्या से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा एवं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मुलाकात कर उसे आशीर्वाद दिया और प्रोत्साहित किया।

वी/ओ-आदित्या के पिता दिग्विजय यादव का बताना है कि जब उनकी बेटी दो ढाई साल की हुई तो उन्हें पता चला कि वह बोल और सुन नहीं सकती जिसके बाद उन्हें काफी निराशा हुई थी। धीरे-धीरे जब उनकी बिटिया बड़ी हुई तो उनका बेटा भी बैडमिंटन खेलता था जिसके बाद अपने भाई को देखकर उसने खेलना शुरू किया और आज यह मुकाम हासिल किया जिसमें कोच की भी महत्वपूर्ण भूमिका रही।

वही आदित्या के कोच संजीत प्रधान का कहना है कि पिछले 6-7 साल से वह आदित्या को बैडमिंटन की ट्रेनिंग दे रहे हैं। आज उसने ओलंपिक में स्वर्ण पदक हासिल किया है जिसके लिए उन्हें काफी गर्व है पूरी आशा है कि अगले ओलंपिक में वह व्यक्तिगत वर्ग में ओलंपिक में गोल्ड मेडल हासिल कर लाएगी।

जिला मुख्यालय पर आयोजित कार्यक्रम में आदित्या को सम्मानित करने के बाद केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि महराजगंज जनपद की बिटिया ने एक बड़ा मुकाम हासिल किया है जो हम सभी के लिए एक गर्व की बात है। उम्मीद है कि जनपद के सभी जनप्रतिनिधि आगे बढ़कर उसका पूरा सहयोग करेंगे। सरकार खिलाड़ियों के प्रति गंभीर है और खेलो इंडिया के माध्यम से खिलाड़ियों को सुविधाएं दी जा रहे हैं सैकड़ों गावों में स्टेडियम बनाने का काम चल रहा है। सरकारी तरफ जहां गरीबों का विकास कर रही है वही नौजवानों को खेल में बढ़ावा देने के लिए प्रयास कर रही है ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
[ngg src="galleries" ids="1" display="basic_slideshow" thumbnail_crop="0"]
Back to top button