Tuesday , October 4 2022

ऐसे बचेगा पाण्डू नदी का अस्तित्व, सिर्फ सफाई से नहीं चलेगा काम

पी0के0 विश्वकर्मा (संवाददाता)

० सदर विधायक की पहल पर पाण्डू नदी के सफाई का कार्य शुरू

० मनरेगा से करोड़ों की लागत से की जा रही है पाण्डू नदी की सफाई

० महाभारत काल से जूडी ऐतिहासिक नदी है पाण्डू नदी

० वि.ख.कोन के ग्यारह ग्राम पंचायतों से बहती है नदी

कोन । कोन क्षेत्र में स्थित ऐतिहासिक पाण्डू नदी का अस्तित्व दिन प्रतिदिन समाप्त होते जा रहा था । जिसके लिए वर्षों से ग्रामीण इस नदी की सफाई की मांग करते चले आ रहे थे । सदर विधायक भूपेश चौबे की पहल पर जिलाधिकारी ने मनरेगा से नदी की सफाई कराने का फरमान जारी होते ही आनन फानन में विकास खण्ड के ग्यारह ग्राम पंचायतों के मनरेगा मजदूर अपने-अपने गांव में नदी की सफाई मे जूट गये। हालांकि आदेश होते ही नदी के सफाई का काम तो शुरू हो गया लेकिन नदी के तलहटी पर हजारों वर्षों से जमा शिल्ड का सफाई नहीं होने से कोई खासा लाभ मिलते नहीं दिख रहा है।

जानकारी के अनुसार नदी की सफाई हेतु अनुमानित लागत एक करोड़ 15 लाख है, जो मनरेगा के तहत मजदूरों की मजदूरी मे खर्च होना है। बुध्दजीवियों का मानना है कि जबतक नदी में जमे शिल्ड की सफाई नहीं होगी तबतक कोई खास लाभ मिलने वाला नहीं है। ड्रीम प्रोजेक्ट के रूप मे चल रहा नदी की सफाई कार्य का निरीक्षण करने बृहस्पतिवार को डीसी मनरेगा ने मौके पर पहुंच मजदूरों को नदी का शिल्ड भी निकालने व सफाई करने की निर्देश देते हुये मातहतों को दिशानिर्देश दिया। ग्रामीणों की माने तो सफाई के नाम पर सिर्फ कोरम पूरा किया जा रहा । उनका आरोप है कि इस सफाई से केवल मजदूरों को काम तो मिल रहा है परन्तु नदी की सफाई नहीं हो पा रही है । पाण्डू नदी के अस्तित्व को बचाने के लिए उद्धगम स्थल पाण्डू चट्टान से लेकर झारखंड बार्डर डोमा तक शिल्ड की सफाई किया जाना चाहिए, तभी नदी का अस्तित्व बचाया जा सकता है।

बतादें की पाण्डू नदी कोन क्षेत्र के लिए वरदान के रुप में है। जिसके सहारे कोन समेत दर्जनों गांव बसा माना जा रहा है, जो आजतक भीषण गर्मी में भी नहीं सूखा है परन्तु शिल्ड व गंदगी से अस्तित्व खतरे में पड़ गया है। निरीक्षण में डीसी मनरेगा के साथ खण्ड विकास अधिकारी कोन मु.तारीक, टेक्निकल सहायक विजय गुप्ता, सुनील कुमार, श्रीनिवासन साथ रहें।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com