Friday , October 7 2022

सरकार का ग्रामीण इलाकों में 18 घण्टे बिजली देने का दावा फेल, अंधाधुंध विद्युत कटौती से उपभोक्ता त्रस्त

संजय केसरी/अर्जुन मौर्या (संवाददाता)

– बिजली विभाग लोगों को न घर का रखा न बाहर का

डाला । जहां एक तरफ भीषण गर्मी से लोगों का जीना दूभर हो गया है, ऊपर से बेरहम बिजली विभाग की अदाओं ने लोगों को न घर का रखा और न बाहर का । बिजली विभाग द्वारा धुंआधार बिजली कटौती से लोग बेहाल हैं । घर पर उमस और बाहर लू, जिसकी वजह से लोगों को समझ में नहीं आ रहा कि आखिर वे जाएं तो कहां जाये ।

विगत कुछ दिनों से जवारीडाड़ विद्युत उपकेंद्र की विद्युत आपूर्ति बेपटरी हो गई है । जहाँ सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में 18 घंटे बिजली देने का दावा कर रही है। वहीं जवारीडाड़ उपकेंद्र से जुड़े उपभोक्ताओं को कुछ घण्टे ही बिजली नसीब हो रही है। उपकेंद्र पर पता करने पर बताया जाता है कि ट्रांसमिशन से कटौती की जा रही है।

उपभोक्ताओं का कहना हैं सरकार तो 18 घण्टे बिजली दे रही है लेकिन यहां बिजली विभाग मौजूदा सरकार को बदनाम करने में लगी हुई है ।

क्षेत्र के उपभोक्ताओं ने बताया कि गुरमुरा फीडर में विद्युत आपूर्ति क्षेत्र में इतना दयनीय है कि अगर कोई छोटा भी फाल्ट हो जाता हैं तो उसको बनाने में लाइनमैन दिनभर का समय ले लेते हैं । लोगों ने बताया कि इस जवारीडाड़ विद्युत उपकेंद्र से सैकड़ों उपभोक्ताओं का बिजली कनेक्शन हैं लेकिन गरीब आदिवासी होने की वजह से उनकी सुनी नहीं जाती ।

इस संदर्भ में जब विभाग के अधिकारी से अंधाधुंध कटौती के बारे में पूछा गया तो उनका एक ही रटा रटाया जवाब आता कि इमरजेंसी रोस्टिंग हैं।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com