नई शिक्षा नीति के अनुसार पहली बार होगी स्नातक प्रथम वर्ष की परीक्षाए

प्रतीकात्मक तस्वीर

देवी अहिल्या विश्वविद्यालय की स्नातक प्रथम वर्ष की परीक्षाएं पहली बार नई शिक्षा नीति 2020 के अनुसार इस सत्र में संपन्न करवाई जायेगी । महाविद्यालय में परीक्षाएं प्राचार्य एन एल गुप्ता के मार्गदर्शन में संपन्न होगी। परीक्षा प्रभारी डा श्याम नाईक तथा डा डेविड स्वामी ने बताया कि यह परीक्षा पद्धति, पुरानी शिक्षा नीति की परीक्षा पद्धति से भिन्न है। नई शिक्षा नीति के अनुसार विद्यार्थियों के मेजर, माइनर, जेनेरिक इलेक्टिव (सामान्य इलेक्टिव), वोकेशनल विषयों के प्रश्न पत्र लिए जाएंगे। नई शिक्षा नीति पर आधारित इस सत्र की परीक्षा का बीकॉम प्रथम वर्ष का टाइम टेबल विश्वविद्यालय द्वारा घोषित हो चुका है, जबकि बीएससी तथा बीए का टाइम टेबल शीघ्र ही घोषित किया जाएगा। बीकाम स्नातक प्रथम वर्ष की परीक्षाए 21 जून से प्रारंभ होगी। स्नातक प्रथम वर्ष की इन परीक्षाओ में महत्वपूर्ण है कि यदि कोई विद्यार्थी अपने पाठ्यक्रम के अलावा दूसरे पाठ्यक्रम से मेजर, माइनर, जेनेरिक इलेक्टिव (सामान्य इलेक्टिव) प्रश्न पत्र का चुनाव करता है तो उसे संबंधित पाठ्यक्रम के अनुसार ही परीक्षा में शामिल होना पड़ेगा । इसके लिए पृथक से परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा । घोषित टाइम टेबल में यदि किसी विद्यार्थी को किसी प्रकार की समस्या है तो वह महाविद्यालय में संपर्क कर सकता है। विश्वविद्यालय, महाविद्यालय की हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करने का समय 11 से 5 बजे तक रहेगा। इसके साथ ही विश्वविद्यालयीन स्नातकोत्तर एमकॉम, एमए, एमएससी, एमएसडब्ल्यू की परीक्षाएं पुरानी शिक्षा नीति के अनुसार प्रारंभ हो रही है, एमकॉम की परीक्षाए 15 जून से प्रारंभ होगी जबकि एमए की परीक्षाएं 20 जून से प्रारंभ होगी। मीडिया प्रभारी डॉ बलराम बघेल ने बताया कि परीक्षाओं से संबंधित विद्यार्थियों को किसी भी प्रकार की समस्या होने पर कला संकाय के डॉ रणजीत सिंह मेवाडे, वाणिज्य संकाय में डॉ आशीराम सस्त्या एवं विज्ञान संकाय में डाॅ श्याम नायक से महाविद्यालय समय में आकर संपर्क किया जा सकता है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
[ngg src="galleries" ids="1" display="basic_slideshow" thumbnail_crop="0"]
Back to top button