Monday , October 3 2022

विद्युत सखी बन सरकारी खजाना भर रही समूह की महिलाएँ

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । प्रदेश सरकार राज्य की महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने के लिए तमाम तरीके के प्रयास कर रही है। राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन इसमें अहम भूमिका निभा रहा है। स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को विद्युत सखी बनाकर सरकार ने एकसाथ दो लक्ष्यों को हासिल करने का काम किया है।

बिजली सखी महिलाएं ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में उपभोक्तओं को बिजली बिल बांटने के साथ बिल की रकम की वसूली में सरकार की मदद भी कर रही हैं और स्वयं भी आर्थिक रूप से सक्षम हो रही हैं। यही नहीं, महिलाएं अब लोगों को उनके घर से बिल लेकर जमा करने की सुविधा दे रही हैं। जिले में अब तक ये महिलाएं बिजली विभाग के खजाने में 60 लाख रुपये का बिजली बिल जमा करा चुकी हैं।

जिला प्रोग्राम मैनेजर एम0जे0 रवि ने बताया कि “राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत पूरे जनपद में 10816 समूह संचालित हैं। इन समूहों में से वर्तमान में 149 विद्युत सखियों ने ग्रामीण क्षेत्रों में काम शुरू कर दिया है। अब तक इन महिलाओं ने विद्युत सखी के रूप में 60 लाख रुपये बिजली बिल की रकम इकट्ठा की है और इसके बदले में इनको कमीशन के रूप में 50 हजार से ज्यादा रुपये प्राप्त हो चुके हैं।”

बताते चलें कि योगी आदित्यनाथ ने 2017 में प्रदेश की कमान संभालने के बाद से ही प्रदेश की महिलाओं के हित में कई बड़ी योजनाओं को लागू किया था। योगी सरकार ने महिलाओं को स्वावलंबी और आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से महिलाओं के लिए स्वयं सहायता समूह गठित किए जिसके माध्यम से महिलाओं को स्वयं सक्षम बनने में काफी मदद मिली। ग्रामीण व शहरी क्षेत्र की महिलाएं आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बन रही हैं। विद्युत सखी योजना भी योगी सरकार की इसी पहल का उदाहरण है, जिसने महिलाओं की जिंदगी में रोशनी बिखेरने का काम किया है।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com