Monday , October 3 2022

ग्रामपंचायतों में रोपे जाएंगे शांकरी पौध

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

मिर्जापुर। विश्व पर्यावरण दिवस पर शांकरी के पौध रोपित किए जाएंगे। कोरोना काल में आक्सीजन की कमी से उपजी भयावहता से सबक लेते हुए वायु मंडल में आक्सीजन की मात्रा में वृद्धि के लिए निर्णय शासन स्तर से लिया गया है। शांकरी के पौध जनपद के प्रत्येक ग्रामपंचायतों में रोपे जाएंगे। जनपद के 809 ग्रामपंचायत के लिए शांकरी के पौधों के इंतजाम वन विभाग की ओर से कर लिए गए हैं। दरअसल पीपल-पाकड़- बरगद के वृक्ष को आक्सीजन का बड़े स्रोत हैं, लेकिन चिंता की बात यह है कि आक्सीजन के अनमोल खजाने से भरपूर पीपल, पाकड़ और बरगद जैसे जीवन के लिए महत्वपूर्ण वृक्षों की संख्या लगातार घटती जा रही है। इसी का नतीजा रहा आक्सीजन की कमी होना।
कोरोना काल में कितनी ही जिंदगी काल कवलित हो गईं। कारोना काल की पुनरावृत्ति न होने पाए इसके लिए विश्व पर्यावरण दिवस की थीम ही शांकरी पौध पर आधारित है। शांकरी के पौध ग्राम सभाओं में खुदे एक ही गढ्ढे में पीपल-पाकड़ और बरगद शांकरी पौध रोपे जाएंगे। इसके लिए जनपद भर में विश्व पर्यावरण दिवस पर पौध रोपण कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com