Sunday , September 25 2022

शाहगंज में बुल्डोजर के डर से लोग खुद हटा रहे अतिक्रमण

विवेकानंद मिश्र (संवाददाता)

शाहगंज । स्थानीय कस्बे में शासन द्वारा प्राप्त निर्देशानुसार रावर्ट्सगंज वाया घोरावल मार्ग पर सड़क के बीचो- बीच पटरी से 12 मीटर दोनों तरफ जमीन का चिन्हांकन प्रशासन की मौजूदगी में पिछले सप्ताह करवाया गया ।
जहां पर चिन्हांकन का कार्य हुआ था, वहां पर कस्बे वासियों ने स्वत: ही अपना आशियाना उजाड़ने का कार्य शुरू कर दिया गया । इस बाबत उप जिलाधिकारी श्याम प्रताप सिंह ने बताया कि कस्बे वासियों को सप्ताह भर की मोहलत दी गई है, नापी गई जमीन ग्रामीण जनो द्वारा स्वत: ही खाली किया जा रहा है, एक सवाल के जवाब में उप जिलाधिकारी श्याम प्रताप सिंह ने कहा कि यदि किसी व्यक्ति का खतौनी में नाम दर्ज है, तो उस खतौनी की जमीन को हम नहीं छू सकते । शाहगंज कस्बे में ही शाहगंज वाया राजपुर मार्ग पर विवेक मिश्रा, गीता मिश्रा, शिवसागर मिश्रा, के नाम से खतौनी है । यदि वास्तव में उप जिलाधिकारी द्वारा कहा गया कथन सत्य है की खतौनी की जमीन को हम छू नहीं सकते तो फिर स्वजलधारा योजना के अंतर्गत बिछने वाली पाइप लाइन को कैसे ले जाया जाएगा जब पत्रकार द्वारा यह पूछा गया क्या कस्बे वासियों को नोटिस दी गई है जिस पर उपजिलाधिकारी ने बताया कि नोटिस की प्रक्रिया अमल में नहीं लाया गया है । ऐसे में सवाल यह उठता है कस्बे वासी स्वत: ही चिन्हांकन की हुई जमीन को खाली करना शुरू कर दिए हैं, यदि खतौनी की जमीन से पाइप लाइन बिछी है तो क्या अन्य जगहों की भांति सरकार द्वारा उन्हें मुआवजा राशि प्रदान की जाएगी कि नहीं, यह भी सवालों के घेरे में है । इस कार्य में किसी का चबूतरा तो किसी का मकान सीमांकन की जद में आ रहा है, इससे भी बड़ी बात उन पटरी व्यवसायियों की हो चुकी है जिन्हें अभी से रोजी-रोटी का डर सताने लगा है इनके लिए भी सरकार द्वारा क्या व्यवस्था की जाएगी अभी यक्ष प्रश्न है ।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com