Wednesday , September 28 2022

गुड्डी मौत प्रकरण की जाँच करेगी तीन सदस्यी जाँच टीम, डीएम को सौंपेगी दो दिन में रिपोर्ट

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

आज झोलाछाप के नोडल अधिकारी गुलाब प्रसाद यादव, एसीएमओ डॉ0 रामकुंवर व आशीष ने जाँच कर इलाज से जुड़े कागजात किए जब्त

सोनभद्र । राबर्ट्सगंज कोतवाली से सटे पंचशील मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल में इलाज के दौरान एक महिला की मौत के बाद इलाज नहीं हो पाने के कारण महिला की मौत के मामले में जिलाधिकारी चंद्र विजय सिंह ने जांच के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की है। एसडीएम राजेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में बनी टीम ने मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ0 रमेश सिंह ठाकुर व सीओ सिटी राजकुमार तिवारी को शामिल किया गया है। जिलाधिकारी द्वारा गठित तीन सदस्यी टीम जांच कर दो दिन में अपनी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेगी।

जिलाधिकारी ने जारी आदेश में लिखा है कि मीडिया एवं सोशल मीडिया के द्वारा प्राप्त सूचना के अनुसार कर्मा क्षेत्र के सिरसिया ठकुराई निवासी गुड्डी (38वर्ष) पत्नी गुलाब की पंचशील हॉस्पिटल में इलाज किया जा रहा था। उक्त महिला की ऑपरेशन के दौरान डॉक्टर की लापरवाही से 29 मई को मौत हो गई।

वहीं आज अवैध हॉस्पिटल व झोलाछाप के नोडल अधिकारी डॉ0 गुलाब यादव और एसीएमओ डॉ0 रामकुंवर व आशीष सिंह ने राबटर्सगंज स्थित पंचशील मल्टीस्पेशलिटी हॉस्पिटल की जांच की तथा मरीज के उपचार से जुड़े कागजात कब्जे में लेते हुए अस्पताल प्रबंधक सहित अन्य का बयान दर्ज किया।मामले में अस्पताल प्रबंधक की तरफ से ब्लड बैंक से लाए गए रक्त में खराबी की दी गई सूचना को लेकर भी सीएमओ ने सीएमएस को जांच के निर्देश दिए हैं और ब्लड बैंक से इसकी पूरी जानकारी हासिल कर और इससे जुड़े तथ्यों का परीक्षण कर, अविलंब रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। उधर, कथित अवैध अस्पताल और पैथालाजी संचालन को लेकर सीएमओ को सौंपे गए पत्रक को लेकर भी जांच शुरू कर करा दी गई है। जिले में पंजीकृत, अस्पताल, पैथालाजी, अल्ट्रासाउंड सेंटरों से जुड़ी सूचनाएं भी तैयार कराई जा रही हैं।

बताते चलें कि गत 29 मई को गुड्डी देवी की इलाज के दौरान मौत हो गई थी। अस्पताल प्रबंधक का कहना था कि उपचार में उनके यहां कोई लापरवाही नहीं बरती गई है। अलबत्ता चढ़ाने के लिए ब्लड बैंक से लाए गए ब्लड में ही खराबी आ गई। हालत बिगड़ने पर वाराणसी के लिए रेफर किया गया। वहां के अस्पताल में मौत हुई। वहीं मृतक के पुत्र का आरोप है कि उसकी मां के बेहतर इलाज की बात कहकर राबटर्सगंज स्थित अस्पताल लाया गया और यहां उससे इलाज के नाम पर 80 हजार ले लिए गए। अस्पताल में ही मां की मौत हो गई लेकिन उसे जिंदा होने का झूठा दिलासा देकर भेज दिया गया, वाराणसी में चिकित्सक ने देखते ही उसकी माँ को मृत घोषित कर दिया। इसके बाद बगैर पीएम कराए, जबरिया उसकी मां का दाह-संस्कार कर दिया गया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com