Wednesday , October 5 2022

महिला मौत प्रकरण : सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर निजी हॉस्पिटल के खिलाफ लिखना पड़ा भारी, FIR दर्ज

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । रॉबर्ट्सगंज स्थित एक निजी चिकित्सालय में एक मरीज के मौत के मामले में अस्पताल प्रबंधक की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने आईएफडब्लूजे के जिलाध्यक्ष के खिलाफ धमकी देने समेत कई अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर जाँच में जुट गई है। वहीं आज आईएफडब्लूजे के जिलाध्यक्ष ने मामले में कार्रवाई के लिए सीएमओ को पत्रक सौंपने के साथ ही, एसपी को भी तहरीर देकर अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। जबकि मृतक मरीज के पुत्र की तरफ से दर्ज कराई गई ऑनलाइन शिकायत पर अभी कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई है। हालांकि उक्त मामले में दो दिन पूर्व ही रॉबर्ट्सगंज कोतवाल को कार्रवाई के निर्देश दिए जा चुके हैं।

बताते चलें कि आईएफडब्लूजे के जिलाध्यक्ष विजय विनीत ने दो दिन पूर्व अपने सोशल मीडिया हैंडल पर राबटर्सगंज स्थित एक निजी चिकित्सालय में आपरेशन के दौरान महिला की मौत को लेकर पोस्ट किया था। उन्होंने मृतका के बेटे मनीष यादव के हवाले से कहा कि वाराणसी में एक चिकित्सालय में दिखाने के नाम पर ले जाकर अस्पताल प्रबंधक पवित कुमार मौर्या ने शव को जबरिया जलवा दिया। परिजनों के अनुसार प्रबंधक ने उनको धमकाने का भी प्रयास किया। घटना को लेकर मनीष के तरफ से इलाज के नाम पर 80 हजार लेने, फाइल न देने का आरोप लगाते हुए गत 31 मई को इसकी सीएम पोर्टल पर ऑनलाइन शिकायत भी दर्ज कराया था जिस पर प्रभारी निरीक्षक राबटर्सगंज को आवश्यक कार्रवाई के लिए निर्देशित किया गया और प्रकरण के निस्तारण के लिए आखिरी तिथि सात जून तय की गई।

सोशल मीडिया पर इस प्रकार का पोस्ट देख हॉस्पिटल प्रबंधक पवित कुमार मौर्या ने पूरे मामले का खंडन करते हुए बुधवार की देर शाम राबटर्सगंज कोतवाली में तहरीर देकर आरोप लगाया कि लखनपुरवा निवासी विजय विनीत तिवारी उनके हॉस्पिटल की छवि खराब करने के लिए सोशल मीडिया पर झूठी खबर फैला रहे हैं साथ ही 31 मई को फोन कर अपशब्दों से नवाजने, हॉस्पिटल घेरने की धमकी देने का भी आरोप लगाया। इस पर कोतवाली पुलिस ने विजय विनीत के खिलाफ आईपीसी की धारा 500, 504, 506 और सूचना प्रौद्योगिकी संशोधन अधिनियम 2008 की धारा 67 के तहत मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी।

वहीं आईएफडब्लूजे के जिलाध्यक्ष विजय विनीत तिवारी, टीम 50 के सदस्य दीपक चौबे, सुनील तिवारी, नीतीश चतुर्वेदी आदि ने आज सीएमओ से मिलकर ज्ञापन सौंपा और उक्त हॉस्पिटल के खिलाफ तत्काल कड़ी कार्यवाही की माँग की साथ ही एसपी को तहरीर देकर अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं आज शाम इस मामले में पीड़ित पक्ष को न्याय न मिलने और उनके खिलाफ दर्ज कराए गए मुकदमे को वापस न लिए जाने पर विजय विनीत तिवारी ने 15 जून को लखनऊ जाकर विधानसभा के सामने आत्मदाह करने का अल्टीमेटम देकर हड़कम्प मचा दिया।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com