Saturday , September 24 2022

मां विंध्यवासिनी के दरबार में उमड़ा आस्था का सैलाब

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

मीरजापुर। ज्येष्ठ मास के कृष्णपक्ष की अमावस्या पर सोमवार को मां विध्यवासिनी के दर्शन को आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। अखंड सौभाग्य के लिए व्रती महिलाएं सज-संवरकर मां विध्यवासिनी के आंगन में पहुंचीं और विधिवत पूजन-अर्चन कर सुख-शांति व समृद्धि की मंगलकामना की। ज्येष्ठ मास के कृष्णपक्ष की अमावस्या पर मां विध्यवासिनी का भव्य व दिव्य श्रृंगार किया गया था। मां विध्यवासिनी की अलौकिक छटा को देख श्रद्धालु निहाल हो उठे। नारियल, चुनरी, माला-फूल के साथ कतारबद्ध श्रद्धालु मां का जयकारा लगाते चल रहे थे। मां विध्यवासिनी के जयकारे से विध्यधाम गुंजायमान हो रहा था। कोई झांकी तो कोई गर्भगृह पहुंच मां विध्यवासिनी का दर्शन-पूजन किया। मां विध्यवासिनी के दर्शन-पूजन के बाद मंदिर परिसर पर विराजमान समस्त देवी-देवताओं को नमन किया। शिव मंदिरों में भी रही भीड़ अखंड सौभाग्य के प्रतीक पर्व वट सावित्री की विध्य नगरी में भी धूम रही। महिलाओं ने वट वृक्ष के नीचे सावित्री और सत्यवान की मूर्ति रख विधि-विधान से पूजन-अर्चन किया। महिलाओं ने जल अर्पित कर वट वृक्ष की परिक्रमा करने के साथ कच्चा सूत बांधा। यह पर्व सोमवार को होने से भोलेनाथ के मंदिरों में भी पूजन-अर्चन करने वालों का तांता लगा रहा। सुहाग की लंबी उम्र की कामना के लिए वट सावित्री अमावस्या पर सोलह श्रृंगार कर सुहागिनों ने वट सावित्री पूजा की। शहर के बरियाघाट समेत कई स्थानों पर वट वृक्ष के नीचे सुहागिनों का तांता नजर आया। महिलाओं ने सामूहिक रूप से कथा पाठ किया।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com