Friday , October 7 2022

सोनभद्र परिवहन विभाग का नया कारनामा चर्चा में, अब क्षेत्र में जाकर कर रही वाहन फिटनेस

शान्तनु कुमार

० आखिर किसके आदेश व खर्चे पर आरआई कर रहे फिटनेस

० फिटनेस से किसे हो रहा फायदा

हाल ही में परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर जनपद न्यूज Live ने खुलासा किया था कि कैसे सोनभद्र परिवहन विभाग में बिना गए लाइसेंस बन जाता है । बाकायदा स्टिंग में सामने आया कि कैसे रिकार्ड रूम से फाइल दलालों के हाथों में घूमते हैं ।

अब परिवहन विभाग का एक और मामला इन दिनों खासा चर्चा में है । परिवहन विभाग में तैनात आरआई प्रति शुक्रवार गड़ियों का फिटनेस चेक करने के लिए उर्जान्चल में बीना आते हैं और गड़ियों का फिटनेस चेक करते हैं । पिछले शुक्रवार को भी आरआई को बीना पहुंचना था, जिसके लिए सैकड़ों छोटी-बड़ी गाड़ियां तय स्थान पर पहुंचकर इंतजार कर रही थी । काफी देर बाद आरआई दोपहर में बीना पहुंचे और फिटनेस चेक करने का काम शुरू किया । बताया जा रहा हैं कि पहले तो आरआई ने बड़ी गाड़ियों का ही फिटनेस चेक करना शुरू किया लेकिन कुछ लोगों द्वारा फ़ोटो खींचे जाने की जानकारी जैसे ही आरआई को हुई वे छोटी गाड़ियों का फिटनेस चेक करने लगे ।

बताया जा रहा है कि जैसे ही फोटो खींचने वाले लोग वहां से हटे महज 30 मिनट के भीतर वहां खड़ी सभी गाड़ियों को निपटा दिया गया । और देखते ही देखते वहां मौजूद सैकड़ों की संख्या में खड़ी गाड़ियों की कतारें खत्म हो गयी। क्षेत्र में इसी बात को लेकर चर्चा हो रही है और लोग पूछ रहे हैं कि एक फिटनेस करने में कम से कम कितना समय लगता है ? क्योंकि इतने कम समय में आखिर इतनी गाड़ियों का निस्तारण कैसे किया गया ।

ऐसे में सवाल यह उठता है कि आरआई को फिटनेस के लिए उर्जान्चल जाने का आदेश किसने दिया ? और फिर आफिस के सारे काम छोड़कर आरआई के उर्जान्चल आने से किसे फायदा हो रहा है । इतना ही नहीं आने-जाने में होने वाले खर्च का वहन कौन करता है ।

चर्चा यह है कि यदि उर्जान्चल से यह सभी गाड़ियां परिवहन कार्यालय जाती है तो प्रति गाड़ी काफी खर्च गिरेगा और काम होने की गारंटी भी नहीं रहेगी । लेकिन यदि यहां आकर आरआई फिटनेस करते हैं तो न सिर्फ मोटर मालिकों का पैसा बचेगा बल्कि काम की गारंटी भी रहेगी ।

बताया जाता है कि शुक्रवार का इंतजार न सिर्फ उर्जान्चल मोटर मालिकों को रहता है बल्कि आरआई को भी यहां आने की चिंता सताती है ।

शायद यही कारण ही कि सोनभद्र में परिवहन विभाग का स्टिंग का ट्वीट के बाद सीएम ने कुछ दिनों पहले अपने एक जारी बयान में कहा था कि आरटीओ दफ्तर से दलाली बन्द होनी चाहिए ।

बहरहाल परिवहन विभाग में व्याप्त भ्रष्टाचार किसी से छिपी नहीं हैं, ऐसे में परिवहन विभाग का एरिया 2 एरिया फिटनेस चेक करने के फंडे से किसे फायदा हो रहा है यह तो जांच में साफ हो जाएगा ।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com