क्या सचमुच राशन कार्ड धारकों से होगी वसूली, जिला पूर्ति अधिकारी ने किया खुलासा

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । चुनाव के पहले यूपी में तमाम कयास लगाये जा रहे थे कि 2022 में योगी की सरकार बनेगी कि नहीं? लेकिन जब दोबारा योगी की बहुमत की सरकार बनी तो यह रिसर्च शुरू हो गया कि आखिर इस जीत के पीछे सबसे बड़ा फैक्टर क्या था ? तमाम मीडिया से लेकर राजनीतिक विशेषज्ञों ने पता लगाया तो एक बात छन कर आयी कि सरकार द्वारा गरीबों के बीच बांटा गया राशन जीत में अहम रोल अदा किया है। लेकिन अब वही राशन व राशन कार्ड इन दिनों खूब चर्चा में है।

दरअसल 11 मई 2022 को आयुक्त खाद्य एवं रसद विभाग द्वारा सभी जिलाधिकारियों को एक पत्र लिख कर बताया कि जो राशन कार्ड धारक अपात्र की श्रेणी में हों उनका सत्यापन कर उन्हें निरस्त किया जाय और उनके स्थान पर छूटे हुए लाभार्थियों का राशन कार्ड बनाया जाय। जिसके बाद सोनभद्र सहित कई जिलाधिकारियों ने विज्ञप्ति के माध्यम से पात्रता की सूची जारी कर कहा कि जो इस पात्रता की श्रेणी में नहीं आते हैं वे अपना राशन कार्ड जमा कर दें।

लेकिन इसी बीच सोशल मीडिया पर भी एक मैसेज तेजी से वायरल होने लगा कि जो अपात्र राशन कार्ड धारक निर्धारित तिथि तक अपना राशन कार्ड जमा नहीं करते हैं तो उनसे बाजार भाव के हिसाब से वसूली की जाएगी।
जिसके बाद सभी राशन कार्ड धारकों में हड़कम्प मच गया।
यह खबर देखकर लोग जिला पूर्ति विभाग पहुंचकर अपना राशन कार्ड सरेंडर करने लगे।

यह मामला इतना तूल पकड़ लिया कि बीजेपी नेता वरुण गांधी ने योगी सरकार पर ही ट्वीट कर हमला बोल दिया। जिसके बाद सरकार को आगे आकर सफाई देनी पड़ी औऱ वसूली वाली बात को फर्जी करार दिया।

वहीं जिला पूर्ति अधिकारी गौरीशंकर शुक्ला ने बताया कि “कार्ड धारकों से वसूली की बात पूरी तरह से भ्रामक है, उन्होंने बताया कि जो लोग सक्षम हैं और कार्ड नहीं रखना चाहते हैं वे जमा भी कर रहे हैं । उन्होंने बताया कि अब तक लगभग 1 हजार कार्डधारकों ने अपना कार्ड सरेंडर किया है।”

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
[ngg src="galleries" ids="1" display="basic_slideshow" thumbnail_crop="0"]
Back to top button