Sunday , September 25 2022

बंगाल की भटकी महिला को महिला शक्ति केंद्र ने रिश्तेदारों से मिलाया

फैयाज़ खान मिस्बाही(ब्यूरो )

गाजीपुर। प्रोवेशन कार्यालय अंतर्गत संचालित महिला शक्ति केंद्र/सखी वन स्टाप सेंटर ने बंगाल से भटकरते हुए जिले में आई महिला के रिश्तेदारों से मिलवाया। रिश्तेदारों ने खुश होते हुए महिला के मिलने की सूचना उसके परिजनों को देते हुए महिला शक्ति केंद्र/सखी वन स्टाप सेंटर के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।
बंगाल से भटकर एक महिला 18 मई को जंगीपुर थाना क्षेत्र में चली आई थी। थाना पुलिस से उस महिला नाम-पता पूछने का काफी प्रयास किया, लेकिन वह कुछ भी नहीं बता पा रही थी। इस पर पुलिस ने महिला शक्ति केंद्र/सखी वन स्टाप सेंटर करते हुए महिला को उसे सुपुर्द कर दिया। महिला को सखी वन स्टाप सेंटर में प्रवासित किया गया। इसके बाद महिला कल्याण अधिकारी नेहा राय व अंशु राय ने उस महिला का काउंसलिंग किया, जिसमें काफी मशक्कत के बाद महिला ने अपने दीदी के घर का पता बताया। महिला ने अपने दीदी के ससुराल का पता मुहम्मदाबाद थाना क्षेत्र के सिलाइच गांव निवासी बताया। इस महिला के रिश्तेदार का सही पता की जानकारी होने के बाद प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार को इसकी जानकारी महिला कल्याण अधिकारी ने दी। इसके बाद प्रोबेशन अधिकारी प्रभात कुमार ने उक्त महिला को उसके परिजनों से संपर्क कर सुपुर्द करने का निर्देश दिया। महिला कल्याण अधिकारी नेहा राय द्वारा सिलाइच गांव के ग्राम प्रधान से संपर्क किया गया और महिला के दीदी और जीजा के बारे में जानकारी ली गई तो महिला द्वारा दी गई जानकारी सही निकली। महिला कल्याण अधिकारी ने जंगीपुर थाना पुलिस की मदद से महिला को लेकर मुहम्मदाबाद के सिलाइच गांव के लिए निकली। इसके साथ मुहम्मदाबाद थाने से भी पुलिस को अपने साथ सहयोग के लिए बुला लिया और उक्त महिला को उसकी दीदी और जीजा के घर पर पहुंचकर बात किया। एक-दूसरे से परिचय कराया तो एक-दूसरे ने पहचान कर पुष्टि की। महिला की पहचान सीमा राजभर उर्फ रतनी देवी पति स्व. सिंहासन राजभर के रूप में हुई। इसके बाद महिला कल्याण अधिकारी व पुलिस की मौजूदगी में उस महिला को उसके दीदी और जीजा को सुपुर्द कर दिया गया। इस दौरान मिशन शक्ति 4.0 के तहत महिला शक्ति केंद्र की महिला कल्याण नेहा राय ने अनाथ बच्चे व निराश्रित महिलाओं के लिए चलाई जा रही सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी दी, जिसमें विधवा पेंशन, बाल सेवा योजना, सुमंगला योजना सहित तमाम योजनाओं के बारे में लोगों को बताया। गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा महिलाओं की सुरक्षा के लिए तमाम अभियान चलाए जा रहे हैं जिसमें प्रमुख रूप से प्रोवेशन कार्यालय अंतर्गत संचालित होने वाला महिला शक्ति केंद्र/सखी वन स्टाप सेंटर हैं। जहां पर घरेलू हिंसा से पीड़ित महिलाएं, लावारिस महिलाओं की देखभाल करना तथा भटकती हुई महिलाओं को उसके परिजनों से मिलवाने का काम करता है। प्रदेश सरकार की यह योजना काफी कारगर साबित हो रही है और महिलाओं की सुरक्षा में अहम भूमिका निभा रही है।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com