Monday , September 26 2022

क्यों 31 मई को पूरे भारत में एक साथ छुट्टी पर रहेंगे स्टेशन मास्टर, जाने कारण

मनोज बर्मा (संवाददाता)

रेणुकूट । स्थानीय रेलवे स्टेशन पर मंगलवार को ऑल इंडिया स्टेशन मास्टर एसोसिएशन के बैनर तले स्टेशन मास्टरों ने अपनी समस्याओं के समाधान के लिए 31 मई को पूरे भारत में एक साथ छुट्टी लेने का ऐलान किया। रेलवे स्टेशन पर आयोजित पत्रकार वार्ता में स्टेशन अधीक्षक कमलेश कुमार पांडेय ने बताया कि पूरे भारतवर्ष के 35 हजार स्टेशन मास्टर अपनी समस्याओं के समाधान के लिए 7 अक्टूबर 2020 से ही संघर्षरत है। अपनी 7 मांगों को लेकर अब तक कई चरण में आंदोलन भी कर चुके हैं पर अब तक उनकी समस्याओं का समाधान नहीं किया गया है, जिसकी वजह से आगामी 31 मई को पूरे देश के स्टेशन मास्टर एक साथ अवकाश लेंगे। उन्होंने बताया कि स्टेशन मास्टर की रिक्तियों को कई वर्षों से नहीं भरा जा रहा है अब तक लगभग 7 हजार पद खाली पड़े हुए हैं जिसके कारण वर्तमान में कार्यरत स्टेशन मास्टर पर अतिरिक्त कार्य का बोझ पड़ रहा है जिससे उन्हें परेशानी हो रही है। इसके अलावा रेलवे द्वारा नाइट ड्यूटी सीलिंग लिमिट 43600 के आदेश को रद्द किए जाने की भी उन्होंने मांग की उन्होंने कहा कि समान कार्य समान वेतन की बात की जाती है परंतु रेलवे द्वारा मनमानी तरीके से सीलिंग लिमिट लगाकर स्टेशन मास्टरों के साथ भेदभाव किया जा रहा है। एमएसीपी का लाभ 1 जनवरी 2016 से दिए जाने की भी मांग की। स्टेशन मास्टर विशाल कपूर ने कहा कि उन्हें सेफ्टी और तनाव भत्ता भी दिया जाए, साथ ही पदनाम परिवर्तन के साथ-साथ कैडर का वर्गीकरण किया जाए और स्टेशन मास्टर को पदोन्नत कर उच्च पदों पर भी भेजा जाए। संगठन के स्थानीय शाखा के सचिव सुनील कुमार ने कहा कि रेलवे का निगमीकरण और निजीकरण भी बंद किया जाए और नई पेंशन स्कीम बंद करके पुरानी पेंशन स्कीम लागू की जाए। उन्होंने कहा कि अपनी मांगों के संबंध में संगठन के पदाधिकारियों द्वारा रेलवे बोर्ड के अधिकारियों को ईमेल भेजकर विरोध जताया गया साथ ही 15 अक्टूबर 2020 को पूरे भारतवर्ष के स्टेशन मास्टर ने रात्रि शिफ्ट में स्टेशन पर मोमबत्ती जलाकर विरोध प्रदर्शन किया। तीसरे चरण में 20 से 26 अक्टूबर 2020 तक 1 सप्ताह तक काला बैज लगाकर ट्रेनों का संचालन किया गया। स्टेशन मास्टर अभिषेक झा ने कहा कि चौथे चरण में 31 अक्टूबर 2020 को पूरे देश के स्टेशन मास्टर एक दिवसीय भूख हड़ताल पर रहे, इसके बाद पांचवें चरण में प्रत्येक मंडल कार्यालय के सामने स्टेशन मास्टरों द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया, इसके बावजूद सरकार द्वारा उनकी मांगों पर विचार नहीं किया गया जिसकी वजह से 31 मई को सामूहिक अवकाश लेना पड़ रहा है।इस दौरान अरुण कुमार,विशाल कपूर, अभिषेक झा,सुनील कुमार, चन्दन बाखला, गजेन्द्र यादव,धीरेंद्र कुमार, कुमार जितेन्द्र, आर पी बैठा सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com