Monday , October 3 2022

पत्नी की हत्या में पति को तीन वर्ष का सश्रम कारावास

संजीव कुमार पांडेय (संवाददाता)

मीरजापुर।अपर सत्र न्यायालय संख्या तीन के न्यायाधीश जितेंद्र मिश्र ने पत्नी की हत्या के दुष्प्रेरण में पति को विकलांग होने व चार छोटे बच्चे होने के कारण तीन वर्ष का सश्रम कारावास की सजा सुनाई। एक हजार रुपये के जुर्माने से दंडित किया।
अभियोजन के अनुसार वादी मुकदमा आदिनाथ ने 11 जून 2019 को लिखित तहरीर दी कि उनकी पुत्री संजू का विवाह लगभग 22 वर्ष पूर्व इंद्रजीत बिद पुत्र कृपाशंकर बिद के साथ हुआ था । 11 जून 2019 को पुत्री की मौत की सूचना मिली। सूचना पर जब वे पुरजागीर निवासी अपनी पुत्री के घर पहुंचे तो वह मृत पड़ी थी। उनकी नातिन पूजा ने बताया कि पिता ने मां को मारा-पीटा। इसी से नाराज होकर मां घर में साड़ी से फंदा लगाकर फांसी लगा ली। उनकी लिखित तहरीर के आधार पर चील्ह पुलिस ने मुकदमा पंजीकृत कर आरोप पत्र न्यायालय में प्रस्तुत किया। सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता काशीनाथ दुबे ने चार गवाहों को न्यायालय में प्रस्तुत कराया। पत्रावली पर उपलब्ध साक्ष्य और गवाहों के बयान के आधार पर न्यायालय ने इंद्रजीत बिदु पुत्र कृपाशंकर बिद निवासी पुरजागीर को दोष सिद्ध ठहराते हुए तीन वर्ष सश्रम कारावास की सजा सुनाई। एक हजार जुर्माने से भी दंडित किया।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com