Saturday , September 24 2022

देर रात आजम खान हुए लखनऊ के लिए रवाना

रामपुर। 27 माह बाद जेल से छूटे आजम खान की वाणी में अभी भी वही पुरानी धार है। उनके शैली में मौजूद व्यंग और तंज आज भी तीखा है और उनकी वाणी के तीर सरकार के साथ साथ उनकी अपनी ही पार्टी के नेतृत्व को भी छलनी किए जा रहे हैं।
आजम खान ने जेल में रहते विधानसभा सदस्य की शपथ लेने जाने के लिए अदालत से अनुमति मांगी थी लेकिन अदालत से अनुमति नहीं मिली थी जिसके चलते वह विधायक पद की शपथ नहीं ले पाए हैं। उनके विधानसभा सत्र में शामिल होने को लेकर लगातार संशय बना हुआ था लेकिन अब वह जेल से बाहर हैं और
23 मई से लखनऊ विधानसभा का सत्र शुरू होना है। देर रात्रि में आजम खान अपने बेटे अब्दुल्ला आजम के साथ लखनऊ के लिए रवाना हो गए।

इससे पहले वह घर से निकलकर कुछ दूरी पर स्थित कब्रिस्तान गए जहां दफन अपने मां-बाप की कब्र पर फातिहा पढ़ी । इन सब के बीच लखनऊ जाने को लेकर किए गए मीडिया के सवालों का जवाब अपने ही व्यंगात्मक अंदाज में देते हुए उन्होंने कहा,,.अभी पता नहीं,, रियली नहीं पता, अपने वालिदैन(माँ-बाप) की कब्र पर फातिहा पढ़ूंगा,
जब मुझे जेल में इंस्पेक्टर यह थ्रेट दे सकता है की भूमिगत हो जाइएगा आप पर बहुत मुकदमे हैं ऐसा ना हो कि आपका एनकाउंटर हो जाए तो इतने खतरे हैं तो फिर यह कहना कि मेरा सफर कहां का है मुझे खुद भी नहीं पता।

[psac_post_slider show_date="false" show_author="false" show_comments="false" show_category="false" sliderheight="400" limit="5" category="124"]

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com