Sunday , September 25 2022

सत्यापन से पहले ही सताने लगा वसूली का डर, जिले में 200 से अधिक अपात्रों ने राशन कार्ड किया सरेंडर

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । जिले सत्यापन से पहले ही अब तक 200 से अधिक अपात्रों ने अपने राशन कार्ड सरेंडर कर दिए। 21 मई से राशन कार्डों का सत्यापन होना है। अपात्र पाए जाने पर कार्ड धारक से अब तक लिए गए अनाज की रिकवरी होगी। प्रदेश सरकार ने अपात्रों को 30 मई तक की मोहलत देते हुए अपने राशन कार्ड सरेंडर करने को कहा है। भरोसा दिलाया है कि अब तक लिए गए राशन की वसूली नहीं होगी।

इसके मद्देनजर जनपद में अब तक 200 से अधिक अपात्रों ने अपने राशन कार्ड जिला पूर्ति विभाग के हवाले कर दिए हैं। पिछले तीन दिनों प्रतिदिन 50 राशन कार्ड सरेंडर हो रहे हैं। उधर, विभाग ने राशन कार्डों के सत्यापन की तैयारियाँ शुरू कर दी हैं। लेखपाल, राजस्व निरीक्षक सहित अन्य सरकारी विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटियां लगाई जा रही हैं।

बताते चलें कि जिले में कुल 4 लाख से अधिक राशन कार्ड हैं जिसमें 341032 पात्र गृहस्थी तथा 60558 अन्त्योदय कार्ड हैं। वहीं जिले में कुल 688 सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानें हैं।

जिला पूर्ति विभाग में राशन कार्ड सरेंडर करने वालों में ज्यादातर नौकरी पेशा, पेंशनर्स, बड़े व्यापारी, काश्तकार आदि हैं। आपूर्ति विभाग का मानना है कि जिले में करीब 10 हजार अपात्र लोगों के पास राशन कार्ड हैं।

अपात्र के मानक

चार पहिया वाहन, एसी, जनरेटर, 5 एकड़ से अधिक सिंचित भूमि, शस्त्र लाइसेंस, शहरी क्षेत्र में परिवार की वार्षिक आय तीन लाख, ग्रामीण क्षेत्र में दो लाख, वेतन भोगी, पेंशनर्स, पक्का मकान आदि।

अपात्रों से होगी रिकवरी

अपात्रों से 24 रुपये किलो ग्राम गेहूं, 32 रुपये किलो चावल और नमक, तेल, चना आदि की रिकवरी बाजार मूल्य पर की जाएगी। स्वेच्छा से जमा न करने वाले से वसूली भू-राजस्व की भांति होगी।

जिला पूर्ति अधिकारी गौरी शंकर शुक्ला ने बताया कि “अपात्रों को राशन कार्ड सरेंडर के लिए 30 मई तक का समय है। इसके बाद सत्यापन की कार्रवाई शुरू कर दी जाएगी। अपात्र पाए जाने पर वसूली की कार्रवाई होगी।”

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com