Monday , September 26 2022

एनटीपीसी में मॉक एक्सरसाइज का आयोजन

जनपद न्यूज ब्यूरो

सोनभद्र । बुधवार को उप जिलाधिकारी दुद्धी शैलेन्द्र मिश्रा के अगुवाई में ब्ठत्छ (केमिकल, बायोलोजिकल, रेडिओलोजिकल और न्यूक्लियर) आपदा पर एनडीआरएफ, वाराणसी एवं डीडीएमए, सोनभद्र, सीआईएसएफ व एनटीपीसी सिंगरौली, शक्तिनगर सोनभद्र के संयुक्त तत्वावधान में मॉक एक्सरसाइज का आयोजन किया गया। इस दौरान मॉक अभ्यास के परिदृश्य मे एनटीपीसी परिसर के क्लोरिन प्लांट में अचानक गैस का भारी रिसाव शुरू होने लगा, जिसमे कुल चार में से दो यात्री दो कर्मचारी के घायल होने सूचना प्राप्त हुई, तत्काल नजदीकी सीआईएसएफ और डीडीएमए सोनभद्र को सूचना प्राप्त हुई और तत्काल सीआईएसएफ द्वारा घटनास्थल पर पहुंचकर बचाव का कार्य प्रारंभ किया। उसी क्रम एनडीआरएफ के जवानों द्वारा घटनास्थल पर पहुंचकर बचाव का कार्य शुरू कर दिया और क्लोरीन प्लांट रिसाव में घायलों को बाहर निकाला गया और उनको प्राथमिक उपचार देते हुए स्वच्छता स्थानों पर पहुंचाया गया तथा एक की हालत गंभीर बताते हुए तत्काल नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। तत क्रम में एनटीपीसी के दूसरे बिल्डिंग में आग की घटना की सूचना प्राप्त हुई जिस पर तत्काल एनडीआरएफ की टीम व सी आई एस एफ के द्वारा तत्काल बचाव कार्य करने हेतु संबंधित को निर्देशित किया गया और उनके जवानों द्वारा घटनास्थल पर पहुंचकर आग पर काबू पाया गया और बिल्डिंग में फंसे कर्मचारी व अन्य व्यक्तियों को सुरक्षित बाहर निकालने का कार्य किया गया। उप जिलाधिकारी दुद्धी, महोदय द्वारा सकुशल कार्यक्रम संपन्न होने के उपरांत कार्यक्रम के समाप्त होने की घोषणा की गई।

कार्यक्रम में एनटीपीसी के महाप्रबंधक, उप महाप्रबंधक, सुरक्षा विभाग तथा संबंधित विभाग के विभागाध्यक्ष व सीआईएसफ शक्तिनगर व अनपरा के उप कमांडेंट, एनडीआरएफ के उप कमांडेंट दिनेश कुमार, जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, सोनभद्र के प्रशासनिक अधिकारी ओमकार नाथ, आपदा सलाहकार, पवन कुमार शुक्ला व जनपद स्तरीय संबंधित विभागों के विभागाध्यक्ष जिसमें (स्वास्थ्य, शिक्षा, पीडब्ल्यूडी, सिंचाई, जिला पूर्ति, पुलिस, परिवहन, विकास व नगर निकाय, जल निगम, राजस्व विभाग, अग्निशमन, होमगार्ड, विद्युत वितरण,आदि अन्य संबंधित विभागों के विभागाध्यक्ष कार्यक्रम में उपस्थित रहकर विभिन्न आपदाओं के प्रति अपनी जिम्मेदारियों के प्रति अवगत होते हुए कार्यक्रम को सफल बनाने में सहयोग किया। इस मॉक अभ्यास का मुख्य उद्देश्य किसी भी केमिकल, बायोलोजिकल, रेडियोलॉजिकल एवं न्यूक्लियर आपदा के दौरान प्रभावित हुए व्यक्तियों के अमूल्य जीवन की रक्षा को बचाने तथा समय-समय पर मूक अभ्यास करते हुए लोगों को जागरूक करने का कार्य किया गया जिससे कि संबंधित विषय पर किसी प्रकार की आपदा घटित होती है तो उसमें संबंधित विभागों के अधिकारियोंध्कर्मचारियों द्वारा किस प्रकार अपना योगदान देकर लोगों को राहत और बचाव का कार्य किया जाए के बारे में बेहतर तरीके से जागरूक करते हुए सफल मूक अभ्यास का कार्यक्रम का कार्य किया गया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com