देखिये कैसे स्वास्थ्य कर्मियों ने भगवान को भी नहीं छोड़ा, सीएमओ के निरीक्षण में खुली पोल

शान्तनु कुमार/आनंद चौबे

योगी सरकार में डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक लगातार जिलों का दौरा कर मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने का दावा कर रहे हैं । उनका कहना हैं कि हम मरीजों को भगवान मानकर सेवा करेंगे और उन्हें अस्पताल से निराश होकर जाने नहीं देंगे । मगर उनके दावे की पोल उनके ही अधिकारी के औचक निरीक्षण में खुल गयी ।

गुरुवार को सीएमओ अचानक औचक निरीक्षण करने पुराने जिला अस्पताल पहुंचे तो वहां हड़कम्प मच गया । सीएमओ प्रसवोत्तर केंद्र पहुंच कर वहां महिलाओं से व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली । पहले तो प्रसूति महिलाएं कुछ भी बताने को तैयार नहीं थी । लेकिन सीएमओ के पूछने पर बताया कि प्रसवोत्तर केंद्र पर बिना पैसे दिए डिलेवरी नहीं कराई जाती है । बाद में कई महिलाओं ने अपनी शिकायत दर्ज कराई । पैसे लेकर डिलेवरी कराए जाने की बात सुनकर सीएमओ भी हैरान थे । दरअसल यह खेल वहां खेला जा रहा है जहां से सीएमओ कार्यालय महज सौ मीटर पर स्थित है ।

सीएमओ ने प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक को तत्काल सभी मरीजों के पैसे वापस कराने तथा संबंधित स्टॉफ नर्स से स्पष्टीकरण तलब करने का निर्देश दिया।

बहरहाल स्वास्थ्य मंत्री भले ही मरीजों को भगवान मानकर सेवा करने की बात कर रहे हों मगर इन दिनों सरकारी अस्पतालों में मरीज सिर्फ ग्राहक बन गया है ।
जब यह हाल सीएमओ के नाक के नीचे का है तो दूर दराज इलाकों में प्रसवोत्तर केंद्र का हाल क्या होगा आसानी से समझा जा सकता है।

कुल मिलाकर जब यह हाल सीएमओ के नाक के नीचे का है तो दूर दराज इलाकों में प्रसवोत्तर केंद्र का हाल क्या होगा आसानी से समझा जा सकता है।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
[ngg src="galleries" ids="1" display="basic_slideshow" thumbnail_crop="0"]
Back to top button