Wednesday , October 5 2022

अक्षय तृतीया पर सम्भावित बाल विवाह की रोकथाम के लिए चाइल्ड लाइन व पुलिस संदिग्धों को कर रही चिंहित

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । अक्षय तृतीया के दिन बाल विवाह की कुप्रथा प्रचलित है। बाल विवाह के खिलाफ कानून होने के बाद भी इस प्रकार की घटनाएं हो रही हैं।जिला प्रोबेशन अधिकारी/जिला बाल संरक्षण अधिकारी पुनीत टण्डन के आदेश के क्रम में बाल विवाह, बाल श्रम, बाल तस्करी के रोकथाम हेतु लगाए गए ब्लॉक नोडल अधिकारी साधना मिश्रा व पुलिस टीम ने विकास खंड घोरावल के गांवों व एवं बाजार का भ्रमण कर अक्षय तृतीया के अवसर पर होने वाले संभावित बाल विवाह की रोकथाम हेतु बच्चों/गांव का चिन्हांकन किया तथा ग्रामीणों को नाबालिक लड़कियों की शादी न करने और शादी के लिए प्रलोभन देने वालों के बारे में विभाग व पुलिस को सूचना देने के लिए जागरूक भी किया।

ब्लॉक नोडल अधिकारी साधना मिश्रा ने बताया कि “अक्षय तृतीया को होने वाले बाल विवाह, बाल तस्करी व बाल श्रम पर रोक लगाने और लोगों को बाल विवाह जैसी कुप्रथा के खिलाफ जागरूक करने के उद्देश्य से पुलिस टीम के साथ मिलकर गांवों व नगरों का भ्रमण किया जा रहा है तथा संदिग्ध लोगों को चिन्हित भी किया जा रहा है।”

इस मौके पर उपस्थित प्रभारी निरीक्षक देवतानंद, चौकी इंचार्ज देवेंद्र सिंह, महिला कांस्टेबल दीपा पासवान, जिला बाल संरक्षण इकाई के ओआरडब्ल्यू शेषमणि दुबे आदि रहे।

previous arrow
next arrow

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com