Friday , September 30 2022

हर बार फिसड्डी रहे हैं ओबरा के मतदाता

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

हर बार अव्वल रहे हैं विधानसभा घोरावल के मतदाता

सोनभद्र । सोनभद्र की कुल चार विधानसभा सीटों की तुलना में यहां मतदान का प्रतिशत सबसे कम होता है। जिला प्रशासन की ओर से मतदान प्रतिशत बढ़ाने के तमाम प्रयास किए जाते हैं, बावजूद इसके स्थिति जस की तस है। विभागीय आँकड़ें भी इस बात की पुष्टि करते हैं। पिछले दो विधानसभा व दो लोक सभा चुनाव के आँकड़ों पर गौर करें तो ओबरा विस क्षेत्र में मतदान प्रतिशत सबसे कम होता है तो वहीं घोरावल विधानसभा इसमें अव्वल रहता है। तो वहीं राब‌र्ट्सगंज विधानसभा मतदान प्रतिशत में तीसरा व दुद्धी विधानसभा क्षेत्र दूृसरे स्थान पर रहता है।

जिला प्रशासन की स्वीप टीम को इस बार ओबरा विस क्षेत्र में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए विशेष तौर पर निर्देशित किया गया है। अगर आंकड़ों पर बात करें तो वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में जहाँ घोरावल विधानसभा 64.40 प्रतिशत के साथ पहले नंबर पर रहा वहीं ओबरा विधान सभा में 50.12 प्रतिशत मतों के साथ आखिरी नंबर पर रहा। वहीं 2017 में घोरावल विधानसभा में एक बार फिर सर्वाधिक 65.15 प्रतिशत मत पड़ा जबकि मत प्रतिशत में ओबरा फिर फिसड्डी साबित हुआ और 50.78 प्रतिशत ही मत पड़े।

लोकसभा चुनावों में 50 प्रतिशत तक भी नहीं पहुँच पायी विस ओबरा

वहीं वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में जहाँ घोरावल में 58.12 व ओबरा में 43.98 प्रतिशत मत पड़ा। तो वहीं वर्ष 2019 के लोकसभा चुनाव में घोरावल में 61.10 व ओबरा में 46 प्रतिशत मत पड़े हैं।

दुद्धी व सदर सीट मतदान में रहती है काँटे की टक्कर

राब‌र्ट्सगंज विधानसभा सीट व दुद्धी विधानसभा सीट पर मतदान प्रतिशत में हमेशा कांटे की टक्कर रहती है। आंकड़ों पर बात करें तो वर्ष 2012 के विधानसभा चुनाव में सदर सीट पर 59.87 व दुद्धी विस 58.38 प्रतिशत मत पड़े थे। वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में राब‌र्ट्सगंज विस में 53.60 व दुद्धी विस में 54.35 प्रतिशत मतदान हुआ था। विधानसभा चुनाव 2017 में सदर सीट में 62.43 प्रतिशत व दुद्धी विस में 63.76 प्रतिशत मतदान हुआ। लोकसभा चुनाव 2019 में सदर विस में 57.02 व दुद्धी विस में 60.30 प्रतिशत मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com