अति उत्साह में फंसे भाजपा नेता, आचार संहिता के उल्लंघन में विधायक व मंडल अध्यक्ष समेत 100 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज

पी0 के0 विश्वकर्मा (संवाददाता)

कोन । अभी सोनभद्र में एनडीए गठबंधन से टिकट किसको मिलेगा इसे लेकर शीर्ष नेतृत्व में माथापच्ची चल रही है । अभी यह साफ नहीं हो सका है कि सोनभद्र में किस सीट पर कौन सा दल का प्रत्याशी चुनाव लड़ेगा । लेकिन स्थानीय सत्ताधारी दल के लोग टिकट फाइनल होने से पहले ही बेहद उत्साहित नजर आ रहे हैं । उत्साह इस कदर कि न कोविड के उलंधन की परवाह और न धारा 144 की ।

बुधवार को झारखंड के भाजपा विधायक भानूप्रताप शाही व भाजपा मंडल अध्यक्ष सुनील जायसवाल समेत 100 अज्ञात लोगों के खिलाफ आचार संहिता व महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ तो राजनीतिक गलियारे में हड़कम्प मच गया । जो कार्यकर्ता आगामी कार्यक्रम की तैयारी में थे वे सकते आ गए ।

जानकारी के अनुसार मंगलवार को दोपहर बाद भाजपा सोनभद्र के प्रवासी प्रभारी के रूप मे नियुक्त भवनाथपुर झारखंड के भाजपा विधायक भानूप्रताप शाही कोन क्षेत्र के रामगढ़, मिश्री, बागेसोती समेत अन्य स्थलों पर मंडल अध्यक्ष सुनील जायसवाल के साथ चुनाव प्रचार कर रहे थे । इस दौरान उन्हें सुनने के लिए भारी भीड़ इकट्ठा हो गयी थी । नेता भीड़ देखकर कोविड के साथ आचार संहिता को भूल गए और लोगों को सरकार की उपलब्धियां गिनाते रहे । जब इसकी शिकायत प्रशासन को मिली तो प्रशासनिक अमले में हड़कम्प मच गया । जिसके बाद प्रशासन एक्शन में आ गया और फिर प्रचार करना नेताओं को भारी पड़ गया । शिकायत पर फ्लाइंग स्क्वायड टीम डाला के प्रभारी/सहायक विकास अधिकारी महिपाल लाकरा के तहरीर पर दो नामजद समेत 100 अज्ञात भाजपा कार्यकर्ताओं पर आचार संहिता व महामारी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया गया । मामला दर्ज होते ही राजनीतिक गलियारे में हड़कम्प मच गया ।

बतादे कि इनदिनों प्रदेश में आचार संहिता व कोविड के मद्देनजर 31 जनवरी तक भीडभाड इकट्ठा ना करने हेतु निर्वाचन आयोग का स्पष्ट आदेश है। लेकिन सोनभद्र में सत्ताधारी दल के लोग ही इसका खुला उलंधन करने लगे, जिसका खामियाजा उन्हें भुगतना पड़ा ।

अपने शहर के एप को डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे |  हमें फेसबुक,  ट्विटर,  और यूट्यूब पर फॉलो करें|
[ngg src="galleries" ids="1" display="basic_slideshow" thumbnail_crop="0"]
Back to top button