Sunday , October 2 2022

1778 टीबी मरीजों का चल रहा उपचार

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम (एनटीईपी) के अंतर्गत आजादी का अमृत महोत्सव ‘आइकानिक वीक आफ हेल्थ’ का आयोजन किया जा रहा है। इसके अंतर्गत तीन जनवरी से नौ जनवरी तक विभिन्न गतिविधियां आयोजित की जाएंगी। जिसमें पांच और छह जनवरी को स्कूल, कालेज, मदरसा, एनसीसी व एनएसए के छात्रों का संवेदीकरण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसके बाद सात व आठ जनवरी को धर्मगुरुओं के माध्यम से टीबी के प्रति जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। नौ जनवरी को भव्य कार्यक्रम का आयोजन होगा। इसके अंतर्गत जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक, ग्राम स्तर पर सामुदायिक बैठक, नुक्कड़ नाटक व अन्य जागरूकता संबंधी गतिविधयों का आयोजन वृहद स्तर पर होगा। उक्त जानकारी जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ0 आर0जी0 यादव ने हाईडिल स्थित टीबी हॉस्पिटल में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस में कहा।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ0 आर0जी0 यादव ने बताया कि “लगातार 6 से 8 महीने तक दवा खाने से टीबी की बीमारी पूरी तरह से ठीक हो जाती है। टीबी की जाँच एवं इलाज स्वास्थ्य केंद्रों पर निःशुल्क दिया जाता है। इस वक्त जिले में 1778 टीबी मरीज सरकारी अथवा प्राइवेट चिकित्सालय के माध्यम से उपचाररत हैं। वहीं उपचाररत मरीजों को इलाज के दौरान पौष्टिक आहार हेतु ₹500/- प्रतिमाह मरीजों को उनके खाते में डीबीटी के माध्यम से दिया जाता है। जनपद में 11 टीबी यूनिट, 27 बलगम जाँच केंद्र व 1093 उपचार केंद्र क्रियाशील हैं।”

जिला क्षय रोग अधिकारी ने बताया कि “इस कार्यक्रम का उद्देश्य टीबी के खात्मे के लिए जन सहभागिता को बढ़ावा देना है। टीबी के खिलाफ मुहिम में सभी की सहभागिता जरूरी है। टीबी रोगियों के प्रति मानवीय दृष्टिकोण अपनाएं। हमें टीबी की बीमारी को हराने के लिए काम करना है। पीड़ित व्यक्ति के खाँसने, छींकने से दूसरे स्वस्थ व्यक्ति को यह बीमारी लग जाती है। छोटे स्कूली बच्चे इस बीमारी के शिकार जल्दी हो जाते है। इधर-उधर थूकने तथा साझा तौलिया, रूमाल व चादर आदि का प्रयोग करने से भी इस बीमारी को बढ़ावा मिलता है। किसी व्यक्ति को दो सप्ताह से अधिक समय से खाँसी आ रही हो, शाम से बुखार चढ़ता हो, सीने में दर्द, खाँसी के साथ खून आना आदि इसके प्रमुख लक्षण हैं। यदि इसका समय पर लगता इलाज न कराया जाय तो यह बीमारी शरीर के अन्य अंगो में भी फैल जाती है।”

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com