Friday , September 30 2022

बर्खास्त एम्बुलेंसकर्मियों ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन

आनंद कुमार चौबे (संवाददाता)

सोनभद्र । आज बर्खास्त 108/102 एम्बुलेंसकर्मियों ने जिलाध्यक्ष अश्विनी पांडेय के नेतृत्व में भारी संख्या में कलेक्ट्रेट पहुँच प्रदर्शन किया और ओसी को मुख्यमंत्री को संबोधित पाँच सूत्रीय ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान जिलाध्यक्ष अश्विनी पांडेय ने कहा कि ” नौकरी से निकाले जाने वेतन कटौती दृष्टि भुगतान न होने से अन्य प्रकार के उत्पीड़न से तंग होकर एंबुलेंस कर्मियों ने 23 जुलाई 2021 को गार्डन लखनऊ में हड़ताल नहीं किया बल्कि सिर्फ क्रमिक धरना दिया, जिससे पूरे प्रदेश में एंबुलेंस रूप से चलती रहे और कोई जानहानि ना हो। लेकिन लेकिन जीवीके कंपनी के अधिकारियों ने आंदोलन को गलत दिशा में प्रचारित करते हुए मुख्यमंत्री को भी भ्रमित कर यह बताया कि यूनियन ने पूरे प्रदेश में हड़ताल की है जबकि है मात्र एक क्रमिक धरना था। इसलिए हम सभी एम्बुलेंसकर्मी मुख्यमंत्री से न्याय की माँग करते हैं।”

प्रमुख मांगें

1. एंबुलेंस का संचालन में लगे एमटी को मिनिमम वेज ना देकर कंपनी मात्र 6500 रुपए मासिक वेतन दे रही है। इसलिए मिनिमम वेज के साथ-साथ समय-समय पर बहुत महंगाई भत्ता का भी भुगतान कराया जाए।

2. 12-12 घंटे लिए जा रहे कार्य के घंटों को 8 घंटा किया जाए और अतिरिक्त कार्य के लिए दोगुनी वेतन के दर से मजदूरी दी जाए। उल्लेखनीय है कि 4 घंटे अतिरिक्त कार्य के लिए पायलट को 3400 रुपए व ईएमटी को 3900 रुपए दिया जाता है, जबकि यह धनराशि दोगुने से अधिक बनती है।

3. कंपनी के कार्यालय में कार्यरत लगभग 2000 कर्मचारियों को भी मिनिमम वेज नहीं दिया जा रहा है,उन्हें भी मिनिमम वेज दिया जाए।

4. प्रदेश में कंपनी द्वारा 2012 से एंबुलेंस का संचालन किया जा रहा है। बोनस की देयता होते हुए भी कभी भी बोनस का भुगतान नहीं किया गया है, बोनस का भुगतान अति शीघ्र कराया जाए।

5. धरना समाप्ति के पश्चात लगभग 9000 कर्मचारियों की अवैधानिक ढंग से सेवाएं समाप्त कर दी गई है, उनको सेवा में पुनः बहाल कराया जाए।

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com